मुजफ्फरपुर में महिला इंजीनियर को कुर्सी से बांधकर जिंदा जलाया

302
0
SHARE

मुजफ्फरपुर: बिहार के मुजफ्फरपुर में कुर्सी से बांधकर महिला जूनियर इंजीनियर को जिंदा जलाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। घटना मुजफ्फरपुर के अहियापुर के कोल्हुआ बजरंग बिहार कॉलोनी में रविवार रात एक निर्माणाधीन मकान में कुर्सी से बांध मनरेगा की जेई सरिता कुमारी को जिंदा जला दिया गया।

मौके पर केवल राख और पैर की हड्डियां मिली हैं। मृतका की मां कुसुम देवी ने शव की पहचान की है। जानकारी के मुताबिक मृतका सरिता देवी सीतामढ़ी की रहने वाली है। वह मुरौल प्रखंड में कार्यरत थी। इसकी जानकारी लोगों को तब हुई, जब सोमवार सुबह मकान मालिक विजय कुमार गुप्ता ने मकान का ग्रिल खोला। उनके शोर मचाने के बाद मौके पर लोगों की भीड़ जुट गयी।

विजय ने इसकी सूचना अहियापुर पुलिस को दी। इसके बाद प्रभारी थानाध्यक्ष अनिल यादव व सबइंस्पेक्टर विश्व मोहन प्रसाद ने मौके पर पहुंच मामले की जांच की। शव पूरी तरह से जलने के कारण शिनाख्त के लिए एफएसएल अहियापुर में महिला टीम को बुलाया गया।

सरिता की शादी नेपाल बॉर्डर पर कन्हौली फूलकाहां निवासी विजय नायक से हुई थी। उसके दो पुत्र हैं। पति गांव में ही रहता है। सरिता पिछले तीन सालों से मुरौल में जेई पद पर थी और बजरंग विहार कॉलोनी में विजय गुप्ता के मकान में रहती थीं। विजय मनरेगा की योजनाओं का इस्टीमेट बनाता था।

टीम ने मौके से एक जोड़ी महिला का चप्पल, अधजली कुर्सी व हड्डी के अवशेष जांच के लिए ले गयी। देर शाम शव के बचे अवशेष को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेजा गया। पुलिस ने इसकी सूचना जेई के परिजनों को मोबाइल पर दी है।

पुलिस का कहना है कि शव की पहचान एफएसल रिपोर्ट आने के बाद ही होगी। वहीं जेई के पति के पहुंचने के बाद ही बयान दर्ज हो पायेगा। मकान मालिक विजय कुमार गुप्ता को भी हिरासत में रखा गया है।