साइकिल पर मृतक बेटी की तस्वीर टाँगे एक पिता लगा रहा इन्साफ की गुहार

292
0
SHARE

गया – 5 वर्षीय तन्नू आज भी मांग रही है इंसाफ। हत्यारों को फाँसी की सजा दिलाने के लिए पिता ने की अनोखी पहल। कहीं जिला प्रशासन भूल न जाए इसके लिए अपने साइकिल के आगे-पीछे मृतक तन्नू की तस्वीर टाँगे घूमता है। वह जहां भी जाता है इसी साइकिल से जाता है। उन्होंने बताया कि हत्यारा गिरफ्तार तो हो गया लेकिन वह दरिंदा आज भी जिंदा है। कहीं कोई दूसरी तन्नू न बन जाये इसलिए वह न्याय की मांग के लिए वह अपने साइकिल पर फोटो लगाए घूम रहा है।

गया के रामपुर थाना क्षेत्र के गेवालबीघा मोहल्ले की घटना है। यह घटना उन मासूमों के साथ घटी जिसने किसी का कुछ बिगाड़ा भी नहीं था। न ही कोई अपराध किया था गलती यही था कि वे अपने घर के बाहर खेल रही थी। 5 जनवरी की देर शाम 5 वर्षीय तन्नू अपने मोहल्ले के बच्चों के साथ खेल रही थी कि तभी पास के ही युवक ने बहला-फुसला कर 3 बच्चों का अपहरण कर लिया। 7 जनवरी की सुबह बाकी 2 बच्चें तो आ गए लेकिन तन्नू घर वापस नहीं लौटी। बरामद दोनों बच्चों ने युवक का नाम बताया। पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर लिया पूछताछ में उसने जो बताया उससे किसी का भी रोंगटे खड़ा हो सकता है। 5 वर्षीय मासूम के साथ बलात्कार कर सर में चाकू घोंप कर हत्या कर दी और शव को कुलपति आवास के समीप झाड़ी में फेंक दिया। पुलिस ने तन्नू के शव को बरामद किया। इस घटना से आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम कर आगजनी भी की जिसे हटाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया था। आरोपी युवक आज जेल के सलाखों में है।

तन्नू के पिता संजय कुमार नगर निगम में वाहन चालक है वह बताते हैं कि आरोपी आज भी जिंदा है और न जाने कितने लोगों को अपने हवस का शिकार बनाएगा। यह घटना दरअसल संजय और आरोपी के बीच के आपसी रंजीश का कारण था। आरोपी को फाँसी की सजा दिलाने के लिए जिले के सभी वरीय अधिकारियों के चक्कर लगाने के बाद संजय अपने साइकिल में तन्नू की तस्वीर टाँगे घूम रहा है ताकि शहर के लोग संजय के साथ इस लड़ाई में सहयोग करें और आरोपी को फाँसी की सजा मिल सके। उन्होंने बताया कि आरोपी को बचाने में गया के विधायक सह मंत्री लगे हैं। यहाँ तक कि गया से पटना तक के अधिकारी और राजनीतिक लोग मामले को दबाने में लगे हैं।

ज्ञात हो सड़क जाम और आगजनी मामले में पुलिस ने दर्जनों नामजद लोगों के सहित सैकड़ों अज्ञात पर प्राथमिकी भी दर्ज की है जिसपर दर्जनों धाराएं लगी है। वहीँ आरोपी पर महज कुछ ही धाराएं लगाई गई है।