आठ बच्चों की मां से गैंगरेप

425
0
SHARE

साहिबगंज/बरहड़वा: साहिबगंज-महाराजपुर रेलखंड के बीच सोमवार की देर शाम गया-रामपुर (53408 डाउन) पैसेंजर ट्रेन में पांच अपराधियों ने एक महिला रेलयात्री (45) के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। घटना के बाद सभी अपराधी महिला को बेहोशी की हालत में ट्रेन में ही छोड़ महराजपुर रेलवे स्टेशन पर उतर गए।

होश में आने पर पीड़िता ने रात में बरहड़वा रेलवे स्टेशन पर उतरकर रेल पुलिस को आपबीती सुनाई। रेल पुलिस ने गंभीर अवस्था में पीड़िता को रात में ही इलाज के लिए बरहड़वा स्वास्थ केंद्र में भर्ती करवाया है।

आठ बच्चों की मां है पीड़िता..

जानकारी के अनुसार गोड्डा जिला अंतर्गत ललमटिया की पीड़िता आठ बच्चों की मां है। सोमवार की सुबह वह पीरपैंती रेलवे स्टेशन से किसी ट्रेन से भागलपुर गई थी। वापसी में साहिबगंज जिला अंतर्गत कोदरजन्ना स्थित गांव में रहने वाली अपनी बहन के पास जाने के लिए गया-रामपुर पैसेंजर में भागलपुर में बैठी थी। साहिबगंज स्टेशन से ठीक पहले करमटोला स्टेशन पर घटना में शामिल पांचों अपराधी ट्रेन में बैठे। ट्रेन के साहिबगंज पहुंचने से पहले ही पांचों ने अकेली सफर कर रही महिला को भय दिखाकर पहले अपने कब्जे में कर लिया। बदमाशों ने महिला को जबरन साहिबगंज स्टेशन पर ट्रेन से उतरने नहीं दिया। ट्रेन लगभग दो घंटे बिलंब से देर शाम 7:22 बजे साहिबगंज पहुंची थी और लगभग 14 मिनट बाद 7:36 मिनट में यहां से खुली। ट्रेन के साहिबगंज से खुलते ही पांचों अपराधियों ने महिला के साथ बारी-बारी से जबरन दुष्कर्म किया। बाद में सभी अपराधी महिला को बेहोशी की हालत में ट्रेन में ही छोड़कर साहिबगंज के दो स्टेशन बाद महराजपुर स्टेशन पर उतरकर फरार हो गए।

होश में आने के बाद रात लगभग 10:20 पर ट्रेन के बरहड़वा रेलवे स्टेशन पर पहुंचने पर पीड़िता वहां उतरकर रेल थाना पहुंची और पुलिस से आपबीती सुनाई। समाचार लिखे जाने तक इलाजरत पीड़िता का बयान दर्ज नहीं किया जा सका था।

पूरे डिब्बे में अकेली थी महिला..

ट्रेन के पूरे डिब्बे में महिला अकेली बैठी थी। इसी बात का फायदा आरोपियों ने उठाया। बदमाशों ने पहले जान से मारने का भय दिखाकर उसे साहिबगंज स्टेशन पर उतरने ही नहीं दिया। ट्रेन तकरीबन दो घंटे बिलंब से चल रही थी और इसके ठीक पहले जमालपुर-मालदा इंटरसिटी ट्रेन के साहिबगंज पहुंचने के चलते गया-रामपुर ट्रेन के लगभग सभी डिब्बे खाली थे।

वहीं साहिबगंज से भी इसे ट्रेन के खुलने के ठीक पहले 7:25 बजे साहिबगंज-रामपुरहाट बामदेव पैसेंजर ट्रेन को खोला गया। इस वजह से ज्यादातर यात्री बामदेव से रवाना हो गए।

मालदा से पहुंचे रेल पुलिस कमांडेंट:

ट्रेन में महिला यात्री से सामूहिक दुष्कर्म की घटना की जानकारी मिलते ही मालदा रेल डिवीजन के रेल पुलिस कमांडेंट आरके सह मंगलवार की सुबह बरहड़वा पहुंचे। वे यहां स्वास्थ केंद्र में इलाजरत पीड़िता के स्वास्थ में सुधार होने के बाद घटना की जानकारी व उनका बयान लेंगे। इस बीच कमांडेंट ने निर्देश दिया है कि जब तक पीड़िता स्वस्थ नहीं हो जाती है, तब तक न तो उनसे कोई बयान लिया जाए और न ही मामले को लेकर किसी प्रकार की मेडिकल जांच कराई जाए। उन्होंने कहा कि रेल पुलिस घटना की गंभीरतापूर्वक जांचकर मामले में संलिप्त अपराधियों को जल्द गिरफ्तार करेगी।