नाबालिग से गैंगरेप, सात लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज

719
0
SHARE

कैमूर/ संवाददाता – कैमूर जिले में इस समय आपराधिक घटनायें आम हो गया है। अपराधियों के जेहन से पुलिस का खौफ निकल चुका है, तभी तो दिन दहाड़े लूट, छिनैति, अपहरण फिर सबसे घिनौना हरकत बलात्कार आए दिन देखने और सुनने को मिल रहा है, लेकिन पुलिस जांच की बातें कह कर नजर अंदाज कर दे रही है।

Read More Kaimur News in Hindi

सुशासन बाबू के राज में अपराधी मस्त और पुलिस पश्त कि कहावत बिल्कुल चरितार्थ हो गया है । अभी ताजा मामला कैमूर जिले के चैनपुर थाना छेत्र के सिरबिट गांव का है, जहां शौच के लिए अपने मां के साथ गई नाबालिग को गांव के ही बदमासों ने मां को मारपीट कर, मां के सामने ही उसके जिगर के टुकड़े को जबरन टांग कर ले गए, फिर उसे ले जांकर उसका हाथ, पैर बांध कर और मुंह बंद कर उसके साथ सात लड़कों ने बार-बारी से गैंग रेप किया।

Read More Bihar News in Hindi

जब तक पीड़िता कि मां गांव में जां कर ग्रामीणों को बुलाती, तब तक बहुत देर हो चुकी थी। लड़की गांव के पास ही खेत में पड़ी हुई मिली। सभी आरोपी फरार हो गए फिर ग्रामीणों कि मदद से नाबालिक लड़की को चैनपुर थाना लाया गया। चैनपुर थाना ने अपनी वाहन से पीडि़ता को महिला थाना भभुआ पहुंचाया, जहां पर पीडि़ता के बयान पर चैनपुर थाना क्षेत्र के सिरबिट गांव के ही सात आरोपियों के खिलाफ महिला थाने में नामजद प्राथमिकी दर्ज कराइ गई है। फिर महिला थाना ने पीड़िता का मेडिकल टेस्ट कराकर न्यायालय में लड़की का बयान दर्ज कराया।

Read More Bihar News

वहीं पीड़िता कि मां और बूढ़े पिता ने बताया कि पीड़िता अपने मां के साथ बाहर शौच के लिये गई थी तभी गांव के ही कुछ बदमासों ने उसे जबरन खेत में ले जाकर उसके साथ बारि-बारि से गैंग रेप किया। जिसके बाद मेरी बेटी का हालत खराब हो गयी, फिर उसे ग्रामीणों कि मदद से थाने लाया गया, जहां सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किया गया है । महिला थानाध्यक्ष अंचला कुमारि ने बताया कि पीड़िता द्वारा आवेदन सात लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराया गया है।

Read More Kaimur News

प्रथम दृष्ट्या से मामला आपसी विवाद का लग रहां है । पुलिस जांच कर रही है पीड़िता का मेडिकल कराया गया है । जिले में एक नाबालिक के साथ गैंग रेप होता है लेकिन हमारी कैमुर पुलिस उसे आपसी विवाद का मामला दे कर केस रफा दफा करने में लगी हुई है। आख़िर जिस पुलिस पर पीडि़ता भरोसा कर न्याय के लिए पहुंची, वहीं पुलिस इसे आपसी विवाद का तूल देने में लगी हुई है। आख़िर हमारी पुलिस ऐसे मामलों पर कब गंभीर हो कर कार्रवाई करेगी । पीड़िता को कब न्याय मिलेगा अब ये वक्त ही बतायेगा।