गौतम गंभीर के फैसले से शहीद के परिजनों के चेहरे पर दिखी मुस्कान

468
0
SHARE

पटना/ संवाददाता – गौतम गंभीर के फैसले से शहीदों के परिजनों में खुशी की लहर दौड़ रही है। अब तक सरकार के द्वारा शहीद की पत्नी और परिजनों को राशि देने की बात सामने आई थी, लेकिन गौतम गंभीर ने क्रिकेट ट्रस्ट के आधार पर सभी शहीद के बच्चों को हाई एजुकेशन शिक्षा देने की बात कही है।

Read More Patna News in Hindi

शहीद के 1 वर्ष से लेकर 25 वर्ष तक के बच्चों को हाई एजुकेशन शिक्षा गौतम गंभीर अपने ट्रस्ट के माध्यम से दिलवाएंगे। गौतम गंभीर के इस फैसले से एक और शहीद के परिजनों में खुशी है। उन्हें अब अपने बच्चों की देख रेख करने की ज़िम्मेदारी भी खत्म हो चुकी है। गौतम गंभीर द्वारा यह बात कहे जाने पर परिजनों में खुशी की लहर दौड़ उठी है और परिजन काफी खुश है। दानापुर में शहीद सौरभ के पिता ने गौतम गंभीर को इस निर्णय और इस फैसले को लेकर काफी धन्यवाद दिया।

Read More Patna News

साथ ही और लोगों को भी गौतम गंभीर के तरह आगे आकर शहीद के परिजनों और बच्चों को मदद करने की बात कही। हालांकि शहीद के पिता ने गौतम गंभीर को शुक्रिया अदा किया और उनके परिवार के बच्चों को इस कार्य के बदले ऊंची मुकाम मिलने की बात कही। उन्होने गौतम गंभीर से सीख लेने के लिए देश के बड़े नेताओं को भी कहा है। ताकि जिस तरह गौतम गंभीर अपनी ट्रस्ट की ओर से बच्चों को हाई एजुकेशन देने की बात की है उसी तरह देश के बड़े नेताओं को भी शहीदों के परिजनों व बच्चों की मदद के लिए आगे आना चाहिए।

Read More Bihar News in Hindi

बिहार सरकार को भी शहीद की पत्नियों को सरकारी नौकरी देने का घोषणा करना चाहिए है ताकि वह अपने बच्चों का पालन पोषण ढंग से कर फिर से अपने बच्चों को देश के शहीद होने लायक बना सकें।