रेलवे की जमीन पर बना दी गई प्रधानमंत्री आवास योजना,अब पूर्व मध्य रेलवे ने दिया खाली करने का नोटिस

259
0
SHARE

गया – रेलवे की जमीन पर मिला प्रधानमंत्री आवास योजना। बिहार में बहार है विकास की ऐसी बहार जिसे सुन लोग चौंक जाए, कमीशनखोरी और विकास की ऐसी धूम है कि रेलवे की जमीन पर बना दी गयी प्रधानमंत्री आवास योजना। अब रेलवे का बनेगा यार्ड, पूर्व मध्य रेलवे ने दिया खाली करने का नोटिस। अधिकारियों ने बताया कि हमें नही है इसकी जानकारी।

गया के चाकन्द रेलवे स्टेशन के समीप रेलवे लाइन के किनारे चमण्डी गाँव है जो पूरी तरह से रेलवे की जमीन अतिक्रमण कर लोग 40 वर्षो से रह रहे है लेकिन पंचायत के प्रतिनिधि और प्रखंड कार्यालय के अधिकारियों की मिलीभगत से जमीन का बिना भौतिक सत्यापन के ही लोगो को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दे दिया गया। आवास बनाना कोई आसान काम नही था लेकिन लोगो से प्रधानमंत्री आवास योजना की प्रति क़िस्त 10 हजार रुपये कमीशन दी पंचायत प्रतिनिधियों ने पैसा मांगा और हो गया काम। कमीशन का ऐसा भूत सवार हुया कि रेलवे की जमीन पर ही 30 लोगो को प्रधानमंत्री आवास योजना दे दी गयी। जब पूर्व मध्य रेलवे के अतिक्रमण हटाने को लेकर 5 दिनों के अंदर खाली करने का नोटिस दिया तो ग्रामीणों की परेशानी बढ़ी।

अब अधिकारियों और पंचायत प्रतिनिधियो के हाथ पैर फूलने लगे है। इसमे पंचायत स्तर के मुखिया, वार्ड सदस्य, ग्रामीण आवास सहायक, प्रखंड विकास पदाधिकारी सहित कई अधिकारी है। जब पंचायत के प्रतिनिधियों ने प्रधानमंत्री आवास योजना दिलाने का लालच दिया तो ग्रामीणों ने बताया था कि यह रेलवे की जमीन है तो हमे कैसे मिलेगा इस पर ग्रामीण आवास सहायक और मुखिया ने कहा था कि कमीशन दो सब हो जाएगा।

इस सम्बंध में नगर प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए ग्रामीण क्षेत्रो में जमीन से जुड़ी दस्तावेजो की जरूरत नही होती है लाभुक के द्वारा शपथ पत्र दिया जाता है कि यह हमारी निजी जमीन है। रेलवे की जमीन पर आवास योजना बनाने जाने पर कहा कि हमे इसकी जानकारी आपके माध्यम से मिली है पूरी मामले की जाँच की जाएगी लाभुकों की सूची मंगाई जा रही है।