कदाचारमुक्त परीक्षा के लिए हो रही कड़ी तैयारी

336
0
SHARE

पटना: दिनांक 01.02.2017 को श्री आनन्द किशोर, अध्यक्ष, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा इन्टरमीडिएट एवं मैट्रिक वार्षिक परीक्षा, 2017 के स्वच्छ, शान्तिपूर्ण एवं कदाचारमुक्त संचालन के लिए सभी जिला पदाधिकारी, सभी वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी को पत्र लिखा गया था।

Read More Patna Samachar in Hindi

परीक्षा संचालन के संबंध में अध्यक्ष द्वारा आज पुनः समीक्षा की गई, जिसके उपरांत सभी जिला पदाधिकारी, सभी वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी को पत्र के माध्यम से निम्नलिखित पूरक निर्देश दिया गया है:-

1. प्रत्येक परीक्षा केन्द्रों पर वीक्षकों की नियुक्ति निर्धारित मापदण्ड के अनुसार करते हुए उनकी प्रतिनियुक्ति Randomization के आधार पर की जाय । साथ ही प्रतिदिन वीक्षकों के परीक्षा कक्ष में भी परिवर्तन सुनिश्चित किया जाय । वीक्षकों की नियुक्ति आवश्यकता से 10 फीसदी अधिक की संख्या में करते हुए उनका नियुक्ति पत्र दिनांक 08.02.2017 तक निर्गत किया जाय ।

2. प्रत्येक 25 परीक्षार्थियों पर एक वीक्षक के अनुपात में वीक्षकों की प्रतिनियुक्ति की जाय । परन्तु प्रत्येक परीक्षा कक्ष में न्यूनतम दो वीक्षक रहेंगे । इस हेतु महाविद्यालयों/ विद्यालयों/माध्यमिक विद्यालयों के साथ-साथ प्राथमिक/मध्य विद्यालय के शिक्षकों को भी वीक्षक के रूप में प्रतिनियुक्त किया जाय। सभी वीक्षक प्रत्येक दिन प्रत्येक पाली की परीक्षा शुरू होने के पूर्व विहित घोषणा-पत्र में यह अंकित करेंगे कि उनके प्रभार के अन्तर्गत 25 (अथवा कम) परीक्षार्थियों की जाँच उनके द्वारा कर ली गयी है तथा उनके पास कोई आपत्तिजनक सामग्री नहीं पायी गयी है। घोषणा-पत्र की मुद्रित प्रतियाँ परीक्षा केन्द्रों को समिति की ओर से उपलब्घ करायी जायेगी ।

3. प्रत्येक दिन प्रत्येक पाली में केन्द्राधीक्षक सभी वीक्षकों से इस आशय का घोषणा-पत्र प्राप्त करेंगे तथा परीक्षा केन्द्र पर भ्रमण करने वाले नोडल पदाधिकारी/दण्डाधिकारी आदि के द्वारा वीक्षक द्वारा दिये गये घोषणा-पत्र की मांग करने पर उन्हें भी दिखायेंगे ।

4. परीक्षा तिथि को केन्द्र पर प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी की सहमति से केन्द्राधीक्षक यह सुनिश्चित करेंगे कि कौन वीक्षक किस कमरे में प्रतिनियोजित होंगे । किसी भी परिस्थिति में गैर शिक्षक एवं अन्य किसी कर्मचारी को वीक्षण कार्य में नहीं लगाया जाय। जिस महाविद्यालय/ विद्यालय के परीक्षार्थी किसी केन्द्र से सम्बद्ध हों, उस महाविद्यालय/ विद्यालय के शिक्षकों/कर्मचारियों को वहाँ प्रतिनियुक्त नहीं करें । यह आश्वस्त हो लें कि वीक्षकों की नियुक्ति निर्धारित मापदण्ड के अनुरूप है।

5. कदाचारमुक्त परीक्षा संचालन हेतु प्रति 500 (पाँच सौ) परीक्षार्थियों पर एक विडियोग्राफर की व्यवस्था भी सुनिश्चित किया जाए । परीक्षार्थियों की संख्या बढ़ने पर उक्त अनुपात में विडियोग्राफरों की संख्या में वृद्धि की जाए ।

6. परीक्षा केन्द्र पर मोबाईल, ब्लू टूथ एवं अन्य इलेक्ट्राॅनिक गैजेट ले जाने पर पूरी तरह रोक लगायी जाए।

7. परीक्षा प्रारम्भ होने से पूर्व परीक्षा केन्द्र के बाहर निरोधात्मक सूचना लगायी जाए कि कोई भी छात्र नकल करने वाले उपकरणों के साथ भीतर प्रवेश न करें ।

8. कदाचारमुक्त परीक्षा संचालन कराने हेतु परीक्षा केन्द्रों की भौगोलिक स्थिति को सुपर जोन एवं जोन में विभक्त कर जोनल दण्डाधिकारी एवं सुपर जोनल दण्डाधिकारी की प्रतिनियुक्ति पुलिस बल के साथ किया जाए । इसके अलावा प्रश्न-पत्रों को पहुँचाने के लिए अलग से गश्ती दण्डाधिकारी की भी प्रतिनियुक्ति की जाए। सुपर जोनल एवं जोनल दण्डाधिकारियों के केन्द्रों के भ्रमण के लिए भौगोलिक क्षेत्र तथा दूरी के अनुसार न्यूनतम भ्रमण का लक्ष्य निर्धारित जिला पदाधिकारी द्वारा किया जायेगा कि इन दण्डाधिकारियों द्वारा प्रति पाली में उनके क्षेत्रान्तर्गत एक केन्द्र का कितनी बार भ्रमण किया जायेगा । साथ ही उक्त दण्डाधिकारियों द्वारा प्रत्येक दिन की भ्रमण विवरणी लाॅग बुक में भरी जायेगी तथा पूरी परीक्षा की समाप्ति के पश्चात् उसे जिला पदाधिकारी कार्यालय में जमा किया जायेगा । इस हेतु जिलावार लाॅग बुक की आपूर्ति समिति द्वारा की जायेगी । साथ ही जोनल एवं सुपर जोनल दण्डाधिकारी प्रत्येक केन्द्र के भ्रमण के क्रम में केन्द्र पर संधारित आगन्तुक रजिस्टर में अपनी अभ्युक्ति एवं हस्ताक्षर दर्ज करेंगे ।

9. प्रत्येक केन्द्र पर पर्याप्त संख्या में स्टैटिक दण्डाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की जाय तथा उनमें से किसी एक को वरीय स्टैटिक दण्डाधिकारी के रूप में नामित किया जाय। इन स्टैटिक दण्डाधिकारियों के बीच प्रतिदिन परीक्षार्थियों की संख्या के अनुरूप कमरों का विभाजन वरीय स्टैटिक दण्डाधिकारी द्वारा किया जायेगा ।

10. परीक्षा केन्द्र के बाहर की विधि व्यवस्था के लिए प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी एवं पुलिस बल तथा भीतर की व्यवस्था के लिए संबंधित केन्द्राधीक्षक की जिम्मेवारी होगी । नकल करने वाले परीक्षार्थियों एवं इसमें सहयोग करने वाले अभिभावकों के साथ-साथ परीक्षा व्यवस्था से जुड़े सभी कर्मियों पर भी बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम, 1981 के प्रावधान सख्ती से लागू किया जाय और दोषियों को दंडित किया जाय ।

11. यदि किसी परीक्षार्थी के पास किसी प्रकार का आपत्तिजनक उपकरण परीक्षा केन्द्र के भीतर पाये जाते हैं, तो उन्हें नियमानुसार दण्डित किया जाय।

12. व्यवहृत उत्तरपुस्तिकाओं के पैकेट तैयार करने एवं प्रेषण विवरणी के लिए केन्द्राधीक्षक एवं केन्द्र पर प्रतिनियुक्त स्टैटिक मजिस्ट्रेट/पुलिस पदाधिकारी को विशेष रूप से अपने स्तर से निर्देश निर्गत करेंगे ।

13. उत्तरपुस्तिका प्रेषण विवरणी (Dispatch Memo) में परीक्षा केन्द्र में निष्कासित परीक्षार्थियों, पूर्णतः अनुपस्थित परीक्षार्थियों के क्रमांक तथा किसी विषय में यदि कोई परीक्षार्थी उपस्थित नहीं हुआ है तो उसके क्रमांक का उल्लेख स्पष्ट रूप से किया जाना चाहिए।

14. जिला पदाधिकारी अविलम्ब अपने जिले के वरीय पुलिस अधीक्षक/ पुलिस अधीक्षक/ जिला शिक्षा पदाधिकारी/अनुमण्डल पदाधिकारी/अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी/जिला कार्यक्रम पदाधिकारी की बैठक बुलाकर कदाचारमुक्त परीक्षा के संचालन हेतु समीक्षा करेंगे।

15. इसके अतिरिक्त परीक्षा प्रारंभ होने से कुछ दिन पूर्व जिला पदाधिकारी द्वारा वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक और जिला शिक्षा पदाधिकारी, सभी प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी तथा केन्द्राधीक्षक की बैठक आहूत कर कदाचार मुक्त परीक्षा संचालन हेतु संयुक्त ब्रीफिंग किया जाय।

16. जिला में परीक्षा संचालन के दौरान विधि-व्यवस्था के लिए जिला नियंत्रण कक्ष स्थापित किया जाए एवं नियंत्रण कक्ष की दूरभाष संख्या सभी संबंधितों को उपलब्ध कराई जाए।

इन्टरमीडिएट एवं माध्यमिक वार्षिक परीक्षा, 2017 के स्वच्छ, शान्तिपूर्ण एवं कदाचारमुक्त संचालन हेतु श्री अंजनी कुमार सिंह, मुख्य सचिव, बिहार द्वारा दिनांक 03.02.2017 को 12ः00 बजे अपराह्न में विडियो काॅन्फ्रेसिंग का आयोजन किया जा रहा है।

इस विडियो काॅन्फ्रेसिंग में बिहार राज्य के सभी प्रमण्डलीय आयुक्त, सभी क्षेत्रीय पुलिस महानिरीक्षक, सभी पुलिस उप महानिरीक्षक, सभी जिला पदाधिकारी, सभी वरीय पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक, सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी उपस्थित रहेंगे।