बच गई परिवार की इज्जत ? मार दिया बेटी को !

450
0
SHARE

औरंगाबाद – जिले में परिजनों द्वारा एक युवती की हत्या कर दिये जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मामला ओबरा थाना क्षेत्र के सोनौहली पंचायत के कदियाही गाँव का है जहां एक प्रेमी युगल को प्रेम करने की सजा मिली। बताया जा रहा है कि उन्हें आपत्तिजनक हालत में पकडे़ जाने पर प्रेमिका को मौत के घाट उतार दिया गया है। बताया जाता है कि एक युवक का प्रेम गांव के ही एक युवती से परवान पर था जो प्रेमिका के परिजनों को पसंद नहीं था। आज उनके एक साथ होने का ज्यों ही प्रेमिका के परिजनों को पता चला तो उन्होंने युवती की इतनी पिटाई कर दी कि उसकी मौत ही हो गयी।

गुस्साये परिजनों ने प्रेमी और उसके पिता की भी लाठी-डंडों से जमकर पिटाई कर दी जिससे कि दोनों घायल हो गये। ग्रामीणों ने घटना की सूचना पुलिस को दी और दोनों घायल बाप-बेटे को ओबरा पीएचसी पहुंचाया। बाद में चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिये औरंगाबाद सदर अस्पताल भेज दिया।

इधर घटना की सूचना मिलते ही एसडीपीओ और ओबरा थाने की पुलिस घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली। बाद में शव को अपने कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया। पुलिस ने बताया कि घटना के विभिन्न पहलुओं की जांच की जा रही है, जांच के बाद ही उन्होंने इस मामले पर बोलने की बात कही। बहरहाल मामला प्रेम-प्रसंग का है या फिर हत्या का यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा, यह कहा ओबरा थाना के एएसआई साकेत सौरभ ने।  

क्या है पूरा मामला ?

प्राप्त जानकारी के अनुसार कदियाही गाँव के उपेन्द्र यादव की पुत्री सुमन का गाँव के ही रामअवतार भुइयां के पुत्र मुकेश भुइयां के साथ पिछले कई महीनो से प्रेम प्रसंग चल रहा था और दोनों एक-दूसरे के साथ जीने-मरने की कसमे खाने लगें परन्तु सामाजिक वर्ण व्यवस्था के तहत उपजी विचारधाराएं दोनों प्रेमी-प्रेमिका के एक होने के सपने को चकनाचूर कर रहे थे।

सुमन और मुकेश अपने जिंदगी के कुछ अहम फैैसले लेने हेतु एकत्रित हुए थे और समाज की नजरों से छुपकर प्रेम का इजहार कर अपने घरों को चले गए परन्तु सुमन के घरवालों को यह बात रास नहीं आई और उन्होंने उसकी जमकर पिटाई कर दी तथा उसी क्रम में उसकी गला दबा कर हत्या कर दी।

इसी क्रम में क्रोध शांत नहीं हुआ और सबने मिलकर मुकेश और उसके पिता की भी पिटाई कर दी। ग्रामीणों के द्वारा की गयी पिटाई से मुकेश और उसके पिता गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें प्राथमिक स्वास्थ केंद्र ओबरा लाया गया जहाँ चिकित्सकों ने दोनों को बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल औरंगाबाद भेज दिया है और पुलिस कस्टडी में घायल पिता-पुत्र का इलाज किया जा रहा है।

इधर मृतका के परिजनों ने आरोप लगाया कि मुकेश ने दुष्कर्म के बाद अपने मित्रों के साथ मिलकर सुमन की हत्या कर दी है, वहीं मुकेश के पिता ने अपने बेटे पर लगाए गए हत्या के आरोप को खारिज करते हुए कहा कि लड़की की हत्या उसके घर वालों ने किया है और हमलोगों को फंसाने की नीयत से उनलोगों द्वारा पिटाई भी की गई।

सूचना मिलते ही मौके पर दाउदनगर डीएसपी संजय कुमार, ओबरा थाना अध्यक्ष हरेंद्र कुमार दल-बल के साथ पहुंचे। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। पूरे मामले में एसपी डॉ सत्य प्रकाश ने बताया कि घटना के हर पहलू की जांच की जा रही है और मामले में जो भी दोषी पाए जाएंगे उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।