मैं बिहारियों का माई बाप-नहीं, शकुनी मामा हूं: काटजू

272
0
SHARE

पटना: भारत के जाने माने सेवानिवृत जज मार्कंडेय काटजू बिहार के खिलाफ नॉन स्टॉप बोलते जा रहे है। और लगातार बिहार और बिहारियों का अपमान करने से बाज नहीं आ रहे हैं। उनके खिलाफ जदयू ने केस भी दर्ज कराया है लेकिन फिर उन्होंने आज अपने फेसबुक पोस्ट पर नीतीश कुमार को जवाब देते हुए लिखा है कि मैं बिहारियों का माई-बाप नहीं हूं लेकिन शकुनी मामा जरुर हूं। इतना ही उन्होंने कहा कि जब नीतीश कुमार भी आलोचना करने लगे तब लगा कि बिहारियों में ही कुछ दोष है।

बिहार को लेकर विवादित टिप्पणी करने के मामले में काटजू के खिलाफ पटना के सिविल कोर्ट में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कराया गया है। इसके बावजूद उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश मार्केंडेय काटजू ने राज्य के प्रति एक बार फिर भड़काऊ बयान देते हुए बिहार के लोगों को संयुक्त राष्ट्र में शिकायत करने का सलाह दी है।

उन्होंने आज ट्वीट किया कि मैं बिहारियों को एक सलाह देना चाहता हूं। बिहारियों को मेरे खिलाफ संयुक्त राष्ट्र में शिकायत करनी चाहिए। उन्होंने महाभारत के एक दृश्य का उल्लेख करते हुए कहा कि जब द्रौपदी का चीरहरण हो रहा था, काटजू ने सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर लिखा है कि मैं सुझाव देता हूं कि उनके खिलाफ बिहारी संयुक्त राष्ट्र में शिकायत करें। उन्होंने कहा कि जब द्रोपदी का चीरहरण किया जा रहा था तो उसने रक्षा के लिए भगवान श्रीकृष्ण से प्रार्थना की थी ।

इससे पहले काटजू ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा था कि पाकिस्तान को हम एक शर्त पर कश्मीर दे सकते हैं, उसे कश्मीर के साथ-साथ बिहार भी लेना पड़ेगा। काटजू के इस पोस्ट पर बिहार के राजनीतिक दलों के साथ-साथ बहुत से लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया दी।

जस्टिस मार्कंडेय काटजू द्वारा बिहार को लेकर दिये गये विवादास्पद बयान के बाद जदयू के प्रवक्ता और बिहार विधान परिषद के सदस्य नीरज कुमार ने उनके खिलाफ शास्त्री नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी है। पुलिस को दी गयी शिकायत के मुताबिक उन्होंने फेसबुक पर मार्कंडेय काटजू का एक पोस्ट देखा जिसमें लिखा हुआ था कि पाकिस्तान यदि कश्मीर चाहता है तो हम उसे देने को तैयार हैं, बशर्ते वह कश्मीर के साथ बिहार को भी लेने को तैयार हो जाये।