बिहार में पहली बार गांजा का विनष्टीकरण

470
0
SHARE

रोहतास- बिहार में पहली बार 7 क्विंटल (700 किलोग्राम) के लगभग गांजे का विनष्टीकरण आज कल्याणपुर सीमेन्ट फैक्ट्री, रोहतास में किया गया। पूर्व में जो भी मादक द्रव्य थानों में या अन्य पुलिस कार्रवाई के दौरान पकड़े जाते थे जैसे कि गांजा, चरस, हीरोईन इत्यादि जो थानों के मालखानो में ही पड़े रहते थे उनका विनष्टीकरण नहीं हो पाता था। बिहार में पहली बार पटना सेंट्रल रेंज के पुलिस उप-महानिरीक्षक राजेश कुमार की अध्यक्षता में लगभग 7 क्विंटल गांजे का विनष्टीकरण आज रोहतास में बंजारी स्थित सीमेंट फैक्ट्री के भट्ठी में किया गया,

पुलिस उप-महानिरीक्षक, केन्द्रीय क्षेत्र, पटना के साथ रशीद जमा, पुलिस अधीक्षक, आर्थिक अपराध इकाई, बिहार, पटना, रविन्द्र कुमार, नगर पुलिस अधीक्षक, पटना (पश्चिमी), विश्वजीत दयाल, अपर पुलिस अधीक्षक-सह-थानाध्यक्ष, आर्थिक अपराध थाना, बिहार, पटना एवं अपर पुलिस अधीक्षक, सुशांत कुमार सरोज भी इनके साथ टीम में शामिल थे।
यह गांजा आर्थिक अपराध इकाई, बिहार, पटना द्वारा विभिन्न स्थानों से छापामारी के दौरान पकड़ा गया था। अभी तक बिहार के इसी तरह के मादक द्रव्यों का विनष्टीकरण कभी नहीं हुआ था, इस ऐतिहासिक कार्रवाई के पश्चात अब बाकी बिहार के अन्य जिलों में जब्त की गई गांजा, चरस, हीरोईन जैसे मादक द्रव्यों का विनष्टीकरण का रास्ता खुल गया है। विनष्टीकरण किये गये गांजे का मार्केट वैल्यू 20 लाख रुपए से ज्यादा है।

पूरी टीम भंजारी स्थित कल्याणपुर सीमेन्ट फैक्ट्री आज पहुंची और विधिवत रूप से गांजे का विनष्टीकरण विडियोग्राफी के साथ पुलिस उप-महानिरीक्षक, केन्द्रीय क्षेत्र, पटना राजेश कुमार की अध्यक्षता में किया गया।

शराबबन्दी के पश्चात शराब के विनष्टीकरण के उपरान्त गांजा जैसे मादक द्रव्यों का विनष्टीकरण बिहार में नशामुक्त समाज में सहायक सिद्ध होगा।