बोधगया में अंतरराष्ट्रीय त्रिपिटक पूजा की हुई शुरूआत

1451
0
SHARE

गया: बिहार के बोधगया में महाबोधि मंदिर में अंतरराष्ट्रीय त्रिपिटक पूजा की शुरुआत हो गयी है। महाबोधि वृक्ष के नीचे 13 देशों के बौद्ध धर्मगुरु करेंगे विश्वशांति की प्रार्थना करेंगे। इस अवसर पर बोधगया में अद्भुत शोभायात्रा निकाली गयी। सबसे पहले थाई मंदिर से शोभायात्रा निकाली गयी। इसके बाद दूसरे देशों की शोभायात्रा निकली।

शोभायात्रा में श्रद्धालु पारंपरिक परिधान पहने हुए थे और प्रार्थना गीत गाते हुए आगे बढ़ रहे थे। त्रिपिटक पूजा में भाग लेने के लिए 13 देशों के बौद्ध धर्मगुरु बोधगया पहुंचे हैं। बंगलादेश, श्रीलंका, लाओस, कम्बोडिया, म्यांमार, नेपाल, थाईलैंड, सिंगापुर, इंडोनेशिया, वियतनाम, भूटान आदि देशों के धर्मगुरुओं के साथ बड़ी संख्या में बौद्ध श्रद्धालु भी त्रिपिटक पूजा में भाग लेने पहुंचे हैं।

उन्हें होटलों में ठहराया गया है। पूजा के लिए चहल-पहल बढ़ी हुई है। कई देशों के बौद्ध श्रद्धालु पारंपरिक वाद्ययंत्र के साथ अपने धर्मगुरुओं की आगुवानी करते नजर आए।

त्रिपिटक पूजा के अवसर पर महाबोधि मंदिर तथा आसपास के क्षेत्रों को सुंदर तरीके से सजाया गया है। वहीं मंदिर की सुरक्षा भी बढ़ा दी गयी है। पुलिस प्रशासन को चौकस किया गया है। महाबोधि मंदिर तथा कालचक्र मैदान में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। बोधगया थानेदार नरेश कुमार ने बताया कि पूजा स्थल के साथ बोधगया में जगह-जगह पुलिस बल की तैनाती की गयी है।

शाम को बिहार के गवर्नर रामनाथ कोविंद पूजा में शिरकत करेंगे। गवर्नर के आगमन को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

त्रिपिटक पूजा का आयोजन लाइट आफ बुद्धा धम्मा फाउंडेशन कर रहा है। पूजा समापन के बाद 13 दिसंबर को सभी बौद्ध भिक्षु जेठियन से पद यात्रा करते हुए वेणुवन राजगीर तक जायेंगे।