जदयू प्रवक्ता निखिल मंडल ने दी तेजस्वी को नसीहत, कहा- आपदा के समय ना करें राजनीति

213
0
SHARE

PATNA: बिहार-यूपी बॉर्डर पर प्रवासियों को खाना खिलाने के लिए लगाए गए लालू रसोई की कैम्प को प्रशासन द्वारा हटाने की कोशिश के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी ने कहा था कि राजद द्वारा संचालित प्रदेश भर में लालू रसोई और भोजनालयों के संचालन में प्रशासन द्वारा व्यवधान उत्पन्न किया जा रहा है. उन्होंने सरकार से अपील की थी कि गरीबों की हित में चलने भोजनालय दें, नहीं तो मुझे खुद मौके पर जाना पड़ेगा.

उनके इसी बात का जवाब देते हुए जदयू प्रवक्ता निखिल मंडल ने कहा कि लॉकडाउन के कुछ नियम और कानून है.ये अलग बात है आपको नियम-कानून से कुछ लेना-देना नहीं है. खुद पास लेकर 55 दिन बाद दिल्ली से आए और अपने कार्यकर्ताओं को छोड़ दिया गैरकानूनी तरीके से भोजनालय चलाने को. आप भोजनालय चलाए, दिक्कत हो तो सरकार से मदद भी लें पर कृपया आपदा में राजनीति न करें.

दरअसल, जिले के बिहार-यूपी बॉर्डर पर तेजस्वी भोजनालय का बैनर लगाकर राजद द्वारा कैंप लगाया गया था, जिसमें बाहर से आ रहे प्रवासी मजदूरों को मुफ्त में खाना खिला जा रहा था. लेकिन जैसे ही प्रशासन को सूचना मिली कि किसी पार्टी विशेष का NH-2 के किनारे कैंप लगाया गया है, तो आनन-फानन में मोहनिया एसडीएम शिव कुमार राऊत, मोहनिया डीएसपी रघुनाथ सिंह सहित दर्जनों पदाधिकारी बॉर्डर पहुंचे और शिविर खाली करने का आदेश जारी कर दिया.