लालू यादव को अमर्यादित भाषा बोलने का दिमागी बुखार चढ़ा है, तो हम सारा बुखार उतार देंगे – नीरज

1466
0
SHARE

पटना लालू यादव द्वारा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करने को लेकर जदयू पूरे तेवर में है। पार्टी ने न सिर्फ लालू के अमर्यादित शब्दों की निंदा की है, बल्कि कड़े लहजे में लालू यादव को अंतिम चेतावनी तक दे डाला है। पार्टी प्रवक्ता सह विधान पार्षद नीरज कुमार ने लालू यादव को घसीटूराम की उपाधि देते हुए उनपर पलटवार करते हुए कहा कि वे विकृत मानसिकता के हैं, क्योंकि अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल ऐसा व्यक्ति ही कर सकता है।

नीरज कुमार ने लालू को चारा चोर कहकर संबोधित करते हुए कहा कि जिसके चेहरे पर भ्रष्टाचार की कालिख लगी हो उसे बोलने का कोई अधिकार नहीं है। नीरज ने लालू को ललकारते हुए कहा कि अगर लालू यादव को अनाप-शनाप बोलने का दिमागी बुखार चढ़ा है तो हम सारा बुखार उतार देंगे। सृजन घोटाले को लेकर लालू और उनके परिवार की तरफ से उठाये जा रहे सवालों पर नीरज कुमार ने साफ शब्दों में कहा कि जो यादव परिवार भ्रष्टाचार की गंगोत्री में नहा रही है, उसे किसी भी मामले में बोलने का नैतिक अधिकार नहीं है।

नीरज ने उलटे सृजन घोटाले में लालू यादव की भूमिका को संदिग्ध बताते हुए पूछा कि जब घोटाले की शिकायत 2002 में राजद की सरकार रहते मिली तो फिर उन्होंने इस मामले को क्यों दबा दिया। नीरज ने आशंका जाहिर करते हुए कहा कि जरुर इस घोटाले में भी लालू यादव और उनके करीबियों की संलिप्ता है जिस कारण वह इतना चिल्ला रहे हैं।

नीरज कुमार ने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए सीएम नीतीश कुमार के आदेश पर सीबीआई जांच की अनुशंसा की गई है। यकीन रखिए जांच रिपोर्ट आने के बाद लालू यादव और उनके जो करीबी इस मामले में संलिप्त पाये जाएंगे उनको सही सरकारी ठिकाने तक पहुंचा दिया जाएगा

जदयू प्रवक्ता यहीं नहीं रूके। नीरज कुमार ने लालू पर शब्द प्रहार करते हुए कहा कि आज बिहार की जनता कह रही है ‘’चारा चोर-सियासत छोड़’’। नीरज कुमार ने लालू यादव पर वंशनाश करने का आरोप लगाते हुए दुर्जन और लंपट की बताया।