ओडीएफ की धुन पर झूम उठे जिलाधिकारी

458
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – डेढ़ माह के कठिन परिश्रम और बच्चों के मिल रहे सहयोग के बल पर जिलाधिकारी 30 सितंबर को ओडीएफ कर प्रधानमंत्री के सपनों को साकार करेंगे। जिलाधिकारी जहां भी जाते हैं वहां लोगों के अंदर ऐसी ऊर्जा भर देते हैं कि लोग अपने आप को रोक नहीं पाते। जिलाधिकारी के कठिन परिश्रम को देखते हुए जिले को खुले में शौच मुक्त बनाने की एक जंग छेड़ दी और आज यह हुजूम देख कर साफ हो गया कि 30 सितंबर को कैमूर जिला खुले में शौच मुक्त कागजों में ही नहीं बल्कि धरातल पर भी होकर रहेगा। आज जिलाधिकारी ने कुदरा प्रखंड के एक दर्जन गांव और विद्यालयों में जा-जाकर खुले में शौच करने से होने वाली बीमारियां और शौच मुक्ति से होने वाले फायदे को बताया जहाँ हर जगह जिलाधिकारी का स्वागत फुल माला और बाजा के साथ किया गया। यहां तक कि जिला अधिकारी को देख कर ओडीएफ की गाना गा रहे गायक ने जब गाने का धुन छेड़ा तो जिलाधिकारी भी अपने आप को रोक नहीं पाए और उसके गाने पर ताली बजाकर झूमने लगे। जिलाधिकारी के साथ-साथ सारे बच्चे और जनता झूम रहे थे।

जिलाधिकारी ने कहा कि कैमूर जिले में स्वच्छता की जंग बच्चों के दम पर जीती जाएगी। स्कूली बच्चे अपने घरों में ज्ञान की रोशनी लेकर ही नहीं जाएंगे, बल्कि स्वच्छता का संदेश भी फैलाएंगे। बाल हठ के आगे बड़ों को भी झुकना होगा और उन्हें उनकी जिद पर घर में शौचालय का निर्माण करना ही होगा। कैमूर के जिला पदाधिकारी डॉ. नवल किशोर चौधरी का कुछ ऐसा ही सोच है। इसलिए हाल के दिनों में ओडीएफ मिशन के तहत उनके कार्यक्रमों में बच्चों पर विशेष रूप से फोकस रहा है। जिला पदाधिकारी न सिर्फ बच्चों से स्वच्छता को लेकर संवाद करते हैं बल्कि उन्हें आगे खड़ा कर उनके साथ स्वच्छता के नारे भी लगाते हैं। स्वच्छता अभियान को लेकर अपनाई गई इस कार्यशैली के बेहतर नतीजे भी सामने आ रहे हैं, और सभी लोग सराहना भी कर रहे हैं। जिले के अधिकांश हिस्से में ओडीएफ के प्रति जनमानस में जबरदस्त जोश व रुझान देखने को मिल रहा है। इस सिलसिले में आज जिला पदाधिकारी ने कुदरा प्रखंड का दौरा कर ग्रामीणों खासतौर पर छात्र-छात्राओं को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया।

जिला पदाधिकारी ने आज प्रातः कुदरा प्रखंड कार्यालय परिसर शहीद एक दर्जन गांव में जाकर छात्र-छात्राओं को सफाई से होने वाले फायदों को बताते हुए स्वच्छता का संदेश दिया। उनके साथ कई अधिकारी व कर्मी मौजूद थे। इस दौरान ओडीएफ कर्मियों व स्वच्छता दूतों ने मोटरसाइकिल रैली के रूप में उनके साथ स्वच्छता का संदेश देने के लिए रोड शो किया। रोड शो के दौरान जिला पदाधिकारी ने एक दर्जन से अधिक गांवों सहित जहां भी स्कूली बच्चे मिले उन्हें संबोधित कर स्वच्छता के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि चूंकि बच्चे हर घर से आते हैं। इसलिए ओडीएफ मिशन में वही हमारी ताकत हैं। बाल सिपाही स्वच्छता के लिए ठान लें तो दुनिया की कोई भी ताकत हमें शत प्रतिशत ओडीएफ होने से नहीं रोक सकती।