हत्या के आरोपी पति गिरफ्तार वहीं बेटे को पुलिस ने छोड़ा

400
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र के सिसोड़ा गांव में 30 मार्च को नारद मुनि अपने बेटा अक्षय के साथ ससुराल गोड़सरा गया था। जहां नारद मुनि ने अपनी पत्नी कलावती पर अवैध संबंध का आरोप लगाते हुए गोली मार दी थी। जिसमें पत्नी कलावती गंभीर रूप से जख्मी हो गई थी। कलावती ने इस मामले में अपने पति नारद मुनि और बेटा अक्षय कुमार को नामजद आरोपी बनाया।

पुलिस ने दोनों अभियुक्त बाप-बेटे को पकड़ कर जेल भेजने के लिए एसपी के पास लेकर आएं। जेल भेजने से पहले एसपी ने जब स्वयं कई बिंदुओं पर नारद मुनि एवं उसके बेटे अक्षय से पूछताछ की तो जांच के क्रम में यह पाया कि नारद मुनि ने हीं कलावती को गोली मारी थी। उसमें उसके बेटे अक्षय का कोई दोष नहीं था।

एसपी ने तत्काल अक्षय को जेल भेजने से मना करते हुए छोड़ने का आदेश दिया। गिरफ्तार पति नारद मुनि को जेल भेज दिया गया। नामजद अभियुक्त के आधार पर रामगढ़ पुलिस अक्षय को जेल भेजने की तैयारी के साथ आई थी लेकिन जब उसने एसपी के सामने अपने बेगुनाह होने की बात कही और एसपी ने जब अक्षय को छोड़ने को कहा तो अक्षय खुशी के मारे अपने पिता नारद मुनि के गले से लिपट कर रोने लगा।