पैसे नहीं तो रजिस्ट्रेशन नहीं

409
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – जिले के सरकारी विद्यालयों में रजिस्ट्रेशन के नाम पर बच्चों से अवैध उगाही किया जा रहा है। अभी मैट्रिक और इंटर का रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ है। जिसमें साठ रुपये से लेकर सौ रुपए तक शिक्षा विभाग द्वारा निर्धारित राशि से अधिक राशि लिया जा रहा है। ग्रामीण और बच्चों द्वारा इसकी शिकायत जिलाधिकारी और जिला शिक्षा पदाधिकारी से करने के बावजूद समस्या का समाधान नहीं दिख रहा है।

जिले के भभुआ प्रखंड के हाई स्कूल पिया में मैट्रिक के रजिस्ट्रेशन के नाम पर सौ रुपए अधिक लिए जा रहे हैं जबकि सरकार द्वारा मैट्रिक रजिस्ट्रेशन के नाम पर 220 रूपये प्रति छात्र लेना है, जहां विद्यालय के प्रधानाध्यापक द्वारा 320 रूपये लिए जा रहे हैं, और कुदरा प्रखंड के इंटर स्तरीय उच्च विद्यालय जहानाबाद में इंटरमीडिएट के रजिस्ट्रेशन के नाम पर 430 रूपये लिए जा रहे हैं जबकि शिक्षा विभाग ने 370 मानक रखा हुआ है।

जब प्रधानाध्यापक से जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि बच्चों के ऑनलाइन फॉर्म जमा कराना है, जेरोक्स कराना है, CD बनवाना है, जिससे ज्यादा पैसा लिया जा रहा है। लेकिन ज्यादा पैसा लेने का विभाग द्वारा नहीं कहा गया है। हम लोग अपने मन से ले रहे हैं क्योंकि सब कोई लेता है।

जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बताया कि मैट्रिक के लिए 220 रूपये और इंटर के लिए 370 रूपये रजिस्ट्रेशन का चार्ज निर्धारित किया गया है। छात्र कोष से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना है। अगर इससे कोई अधिक लेता है तो जांच कराकर वैसे प्रधानाध्यापक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।