अब जागी सरकार बंद कराया अल्पावास गृह!

173
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – जिले के कुदरा प्रखंड के लालापुर में संस्था द्वारा संचालित हो रहे अल्पावास गृह की कुव्यवस्था का मंजर मीडिया द्वारा दिखाए जाने के बाद कैमूर जिला अधिकारी डॉ नवल किशोर चौधरी ने लिया संज्ञान। अल्पावास गृह को सुरक्षा और मानक की कसौटी पर खरा नहीं उतरने के कारण कराया बंद। कुछ दिन पहले लड़कियों द्वारा छेड़खानी का मामला दर्ज कराने के बाद जांच में सही पाया गया। अल्पावास गृह में रह रही 21 लड़कियों को भेजा गया आरा के अल्पावास गृह में और जिला मुख्यालय में जमीन की व्यवस्था कर अल्पावास गृह जल्द खोलने का दिया निर्देश।

दरअसल 16 जुलाई को प्रमुखता से खबर अल्पावास की कुव्यवस्था पर दिखाया गया था। जिसमें एक कमरे में 21 बच्चियों को बिना बिस्तर के चौकी पर सुलाया जाता था, खाने में भी सिर्फ दाल, भात सब्जी और रोटी-सब्जी ही प्रतिदिन दिया जाता था। गंदगी से भरा पड़ा था अल्पावास गृह के कमरे। सरकार से संचालक को लाखों रुपए प्रतिमाह होता था आवंटन। जिसमें अल्पावास गृह में रह रहे बच्चियों को कपड़ा, घूमने, भोजन, मनोरंजन और प्रशिक्षण के नाम पर होता था आवंटन। संचालक भोजन के अलावा बच्चियों को नहीं देता था जरूरी सुविधाएं। कैदियों से भी बदतर जिंदगी जीने को मजबूर थी कैमूर जिले के अल्पावास गृह की बच्चियां। कुछ माह पहले ही यहां की लड़कियों ने छेड़खानी का भी कराया था मामला दर्ज, जिसके बाद जिलाधिकारी ने सुरक्षा के मानक पूरा नहीं करने पर अल्पावास गृह को फिलहाल कराया बंद।

कैमूर जिला अधिकारी डॉ नवल किशोर चौधरी ने बताया कि अल्पावास गृह का शिकायत मिला था। जिसका जांच कराने पर मामला सही पाया गया। सुरक्षा मानकों को ध्यान में रखते हुए अल्पावास गृह में रह रही 21 बच्चियों को आरा अल्पावास गृह में भेज दिया गया है और जिला मुख्यालय में नए तरीके से मानकों के अनुरूप अल्पावास गृह खोजने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। बहुत जल्द यहां अल्पावास गृह के सभी मानकों को पूरा करते हुए खोला जाएगा।