शौचालय नहीं तो राशन नहीं !

168
0
SHARE

दिलीप कुमार

कैमूर – जिले के मोहनिया प्रखंड के बेलौड़ी पंचायत के मुखिया मीर इमरान ने अपने पंचायत के लोगों को तुगलकी फरमान सुना डाला। मुखिया ने सभी डीलरों को कह दिया है कि जिन व्यक्तियों के घर में शौचालय नहीं होगा उनके परिवारों का राशन बंद कर दिया जाए। यह तुगलकी फरमान सुनते ही दलित और कम आय वाले लोगों के बीच हड़कंप मच गया। जब महिलाएं अपने हिस्से का राशन लेने के लिए कार्ड लेकर डीलर के पास गई तो डीलर ने उनको बताया कि आप पहले मुखिया से लिखवा कर लाइये कि आपके घर में शौचालय बना है। अगर मुखिया लिख कर देंगे तभी आपको राशन दिया जाएगा अन्यथा नहीं दिया जाएगा। यह बात सुनकर लोगों में नाराजगी दिखा।

ग्रामीणों ने बताया कि हम लोगों के पास इतने पैसे नहीं हैं कि हम लोग शौचालय का निर्माण करा सकें। हमारे घर में कुल 14 सदस्यों का परिवार है। बहुत मुश्किल से किसी तरह दिन-रात एक कर के मेहनत करने पर दो वक्त के भोजन का जुगाड़ कर पाते हैं। मुखिया द्वारा किसी प्रकार का पहले से मैसेज नहीं दिया गया, अचानक फरमान जारी कर दिया गया कि शौचालय नहीं होगा तो राशन नहीं मिलेगा। जिससे हम लोगों के भूखे मरने की स्थिति आ गई है। आखिर कैसे हम लोगों का काम चलेगा।

वहीं ग्रामीण महिला ने बताया कि जो यह मुखिया का फरमान इस बारिश के महीने में आया है वह अगर मई और जून माह में आया होता तो हम लोग बनवा भी लेते। लेकिन इस बारिश के महीने में कैसे हम लोग शौचालय बनवा पाएंगे और अचानक फरमान जारी कर हम लोग का राशन बंद कर दिया गया बहुत गलत काम किया गया।

वही पंचायत के मुखिया मीर इमरान ने बताया कि सरकार की जो योजना है शौचालय बनवाने का उसको देखते हुए हमने सभी डीलरों के साथ बैठक करके यह निर्देश दिया था जिनके घर शौचालय होगा उन्हीं को राशन दिया जाएगा जिससे कि सभी लोग शौचालय अपना बनवा लेंगे और बनवा करके ही राशन लेंगे।