भ्रष्टाचार का बोलबाला

527
0
SHARE

कैमूर – जिले की पुलिस अक्सर सुर्खियों में रहती है। कभी अवैध वसूली को लेकर तो कभी जिले में बढ़ रहे आपराधिक घटनाओं को लेकर। आज मोहनिया थाना क्षेत्र के महाराणा प्रताप कॉलेज के पास डेहरी से बालू लादकर आ रहे ट्रक को मोहनिया थाने की पुलिस ने जबरन रुकवाया और पैसे की मांग करने लगे, जब चालक ने पैसा देने में असमर्थता जताई तो पुलिस वालों ने चालक को ट्रक से नीचे उतार कर डंडे से बेरहमी से पिटाई किया। जिसके बाद चालक एनएच-2 जाम कर दोषी पुलिस वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे।

बता दें कि आज से 20 दिन पहले भी अवैध वसूली के आरोप में कैमूर एसपी फारेगुद्दीन ने कार्रवाई करते हुए कुदरा थाना के एक जमादार, एक हवलदार सहित सात लोगों को सस्पेंड कर दिया था। आज वसूली का आरोप मोहनिया पुलिस पर लगा है, दो दिन पूर्व भी मोहनिया एसडीएम ने मोहनिया थाना के जीप द्वारा वसूली करते पाए जाने पर मोहनिया एसडीएम ने संबंधित अधिकारी को लिखा था, अब देखना है कि पुलिस क्या कार्रवाई कर रही है।

ट्रक के खलासी ने बताया कि ट्रक पर बालू लादकर डेहरी से दुर्गावती जा रहे थे तभी MP कॉलेज के पास एनएच-2 पर मोहनिया पुलिस ने गाड़ी रुकवाकर पैसा मांगा जब पैसे नहीं दिए तो जबरन फाइल छिनने लगे। फिर मुझे गाड़ी से उतार कर बेरहमी से पिटाई कर डाला और मेरे पास रहे दस-दस हजार के तीन गड्डी यानी कुल तीस हजार रुपये लेकर जाने लगे, जब पब्लिक ने विरोध किया तो उनको भी दौड़ा कर पीटने लगे।

वहीं मोहनिया DSP रघुनाथ सिंह ने बताया कि पूरे मामले का जांच कराया जा रहा है। आवेदन ले लिया गया है। जो भी दोषी होगा चाहे पुलिस ही क्यों ना हो कार्रवाई होगी। जब-जब अवैध वसूली का मामला संज्ञान में आया है सबूत मिला है तब-तब कार्रवाई की गई है। यहां भी दोषी पाए जाने पर बचेगा नहीं, जरूर कार्रवाई होगी।