जानिए जमीन से किस अधिकारी ने सोना निकाला !

917
0
SHARE

जमुई: जमुई में पदस्थापित भू-अर्जन पदाधिकारी आलोक कुमार के पटना स्थित घर में निगरानी विभाग की छापेमारी चल रही है। अब तक करीब 5 करोड़ के निवेश से जुड़े कागजात मिले हैं। डेढ़ लाख कैश के अलावा ज्वेलरी भी मिली है। छानबीन अभी जारी है। ये रकम अभी और बढ़ सकती है।

आलोक कुमार बिहार प्रशासनिक सेवा के 41वें बैच (1999) के अधिकारी हैं। सहारा में 50-50 लाख के दो सर्टिफिकेट के अलावा 30 लाख और 20 लाख के भी कई निवेश हैं। 13500 के निवेश के करीब 400 सर्टिफिकेट अब तक मिल चुके हैं। हर दो-तीन दिन के अंतराल पर निवेश के कागजात मिलने से निगरानी के अधिकारी भी हैरान हैं। 2011 से लेकर अब तक के सभी निवेश हैं। सभी निवेश पत्नी (90 प्रतिशत) बच्चों और खुद के नाम पर किये गये हैं। सिर्फ सहारा में ही करीब 3 करोड़ का निवेश है। इसके अलावा किसान विकास पत्र, डाकघर और करीब एक दर्जन बैंक अकाउंट में भी काफी निवेश किया गया है। छापेमारी के साथ-साथ संपत्ति के आकलन का काम अभी जारी है। कागजात इतने अधिक हैं क़ि निगरानी विभाग को पूरी रात आकलन करने में लग जाएगा।

आलोक कुमार की सैलरी अभी करीब 70000 रूपये प्रतिमाह है। नौकरी की शुरुआत से अब तक कुल आय 65 लाख के आसपास होती है। पटना में शेखपुरा इलाके में पैतृक घर में चल रही है छापेमारी। घर देखकर अनुमान लगान मुश्किल है क़ि इस घर के मालिक के पास इतना पैसा होगा।