मैडम तुसाद इंटरनेशनल म्यूजियम में लालू परिवार का मोम का मूर्ति बनाना चाहिए – संजय सिंह

481
0
SHARE

पटना- जेडी(यू) मुख्य प्रवक्ता और विधान पार्षद संजय सिंह ने बयान जारी करते हुए कहा है कि लालू यादव यानी ‘घोटालाराम’ के पुत्र तेजस्वी यादव को अपना डीएनए देखना चाहिए कि उनके डीएनए में किस तरह की गड़बड़ी है। यह डीएनए घोटालो वाला डीएनए है क्योंकि जो डीएनए लालू यादव में है, वही डीएनए तेजस्वी यादव में है। ये घोटाले का डीएनए है। ताउम्र लालू यादव ने घोटाला किया, भ्रष्टाचार किया, समाज को मूर्ख बनाया। वही डीएनए तेजस्वी यादव में भी है। तेजस्वी यादव ने जैसे ही अपनी राजनैतिक करियर शुरू किया, वैसे ही भ्रष्टाचार में लिप्त हो गए। तेजस्वी यादव में वह डीएनए है जो अक्सर घोटाला करने के लिए बेचैन रहता है। तेजस्वी यादव में वो डीएनए है जो अक्सर अपने समाज को मूर्ख बनाया है।

मैडम तुसाद इंटरनेशनल म्यूजियम में लालू यादव के पूरे परिवार का मोम का मूर्ति बनाना चाहिए क्योंकि ये परिवार पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। इन लोगों ने किस-किस तरीके से घोटाला किया है ये विश्व का आठवाँ आश्चर्य है। हालांकि यह पहला परिवार होगा जिसका तुसाद इंटरनेशनल म्यूजियम में मूर्ति लगेगा क्योंकि यह परिवार विश्व के लिए धरोहर है। किस तरह से घोटाला करना है, किस तरह से लोगों से पैसे लेने हैं, किस तरह से संपत्ति अपने नाम लिखवानी है, किस तरह से पैरवी करके अकूत संपत्ति इकट्ठा करनी है, ये पूरा परिवार जानता है इसलिए यह बिहार के धरोहर नहीं, यह विश्व के धरोहर हैं।

तेजस्वी यादव को यह समझ लेना चाहिए कि जेडीयू एक लोकतांत्रिक राजनीतिक पार्टी है। यहां एक व्यक्तिवाद नहीं चलता है। जेडीयू में लोकतंत्र है। जो अधिकार राष्ट्रीय अध्यक्ष को है, वही अधिकार एक आम कार्यकर्ता को भी है। तेजस्वी यादव अपनी पार्टी के बारे में सोचें जहां वन मैन शो होता है। लालू यादव जिसके सुप्रीमो होते हैं। लालू ने कहा कि अभी दिन है तो सब उनके पीछे दिन कहते हैं, लालू यादव ने कहा कि अभी रात है तो सब एक सुर में कहते है कि रात है। भला ये कहीं लोकतंत्र है, जहां एक व्यक्ति की पूजा होती है, एक परिवार का दबदबा होता है। सभी पद पर लालू यादव का परिवार ही होता है। आरजेडी परिवार की पार्टी है।