एलआईसी के लूटे गये 13.52 लाख रुपये का हुआ उद्भेदन

253
0
SHARE

लूट में शामिल नवीन ऊर्फ टारजन चढ़ा पुलिस के हत्थे

तीन अपराधियों को गया पुलिस पहले ही कर चुकी है गिरफ्तार

गया के 43 लाख के सोना लूट में यही गिरोह था शामिल

जहानाबाद – चर्चित एलआईसी के 13.52 लाख लूट के मामले में नवीन कुमार उर्फ टारजन की गिरफ्तारी के बाद मामले का उद्भेदन ही गया है और घटना परत दर परत खुल गयी है। लूट को अंजाम देने वाले गिरोह के तीन सदस्य पहले ही गया पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं और इसी गिरोह ने गया के चर्चित 43 लाख के सोने की लूट की घटना को अंजाम दिया था।

लूट में शामिल नवीन कुमार उर्फ टारजन जो जहानाबाद के घेजन गाँव का रहने वाला है पुलिस की गिरफ्त में आते ही पूरा मामला का खुलासा कर दिया कि किस तरह 5 जून को दिन दहाड़े तीन मोटर साईकिल पर सवार 6 लोगों ने 13.52 लाख रुपये और सुरक्षा गार्ड का दुनाली बंदूक लूट लिया था और बंदूक को थोड़ी दूर आगे जाकर बालिका उच्च विद्यालय के पास फेंक दिया था। इसके बाद तीनों मोटरसाइकिल पर सवार 6 लोग पिंजोर, धराउत एवं विशुनगंज होते हुए वाणावर पहाड़ पर पहुँच गये थे और गऊ घाट में जाकर लूटे गये रुपये का बंटवारा किया। इस बाबत नगर थानाध्यक्ष एस के शाही ने बताया कि पूछताछ में नवीन उर्फ़ टारजन ने बताया कि उन्ही लोगों ने गया में 43 लाख के सोने की लूट की घटना को अंजाम दिया था जिसमें मखदुमपुर के पाईबिगहा के रहने वाले तीन शागीर्द योगेन्द्र कुमार, बिट्टू उर्फ़ अजीत कुमार एवं विकास कुमार गया पुलिस के हत्थे पहले ही चढ़ चुका है।

इस मामले में शेष दो अपराधी अभी भी फरार हैं। इस घटना का मास्टरमाइंड योगेन्द्र कुमार है जो जहानाबाद आकर एलआईसी ऑफिस की रेकी किया था। नवीन उर्फ टारजन की माने तो रेकी करने के एवज में योगेन्द्र लूट के रुपये में चार लाख हिस्सा लिया था बाकि के शेष रुपये में पाँचों में बंटवारा हुआ था। इधर नवीन उर्फ टारजन की गिरफ्तारी से जहानाबाद के एक चर्चित लूट कांड से पर्दा उठ गया। यहाँ बताते चले कि 5 जून को दिन दहाड़े जिला मुख्यालय स्थित एलआईसी ऑफिस के समीप से दो बाइक सवार चार हथियार बंद अपराधियों ने हथियार के बल पर 13 लाख 52 हजार दो सौ रुपया और सुरक्षा गार्ड के दो नाली बन्दुक लूट लिया था और आराम से चलते बने थे।

घटना उस वक्त घटी थी जब एसआईएस के कर्मचारी एलआईसी का पैसा एक्सिस बैंक में जमा करने जा रहे थे तभी पहले से घात लगाये चार हथियार बंद अपराधियों ने दिन दहाड़े 13 लाख 52 हजार दो सौ रुपया और सुरक्षा गार्ड के दो नाली बंदूक भी लूट लिया था। एसआईएस के कर्मचारी जब वह पैसों से भरा बैग लेकर एलआईसी कार्यालय से उतार कर सिक्योरिटी वैन की ओर जा रहे थे तभी चार-पांच की संख्या में हथियार बन्द अपराधियों ने बैग और सुरक्षाकर्मी का हथियार लूट लिया था और घोषी रोड से भाग निकले थे। हालाँकि पुलिस ने बालिका उच्च विद्यालय के समीप बंदूक सड़क किनारे फेंकी हुई बरामद कर लिया था।