रेप केस में मुर्दा बना गवाह !

834
0
SHARE

कैमूर: बिहार के कैमूर जिले में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे जानकर आप भी चौंक जाएंगे और कहेंगे भला ऐसा कैसे हो सकता है जी हां क्या पांच साल पहले मर चुके आदमी किसी केस का गवाह बन सकता है अगर आप जवाब नहीं में सोच रहे हैं तो गलत हैं.. क्योंकि बिहार में रेप के मामले में मुर्दे को गवाह बनाया गया।

Read more Kaimur News in Hindi

कैमूर जिले में गैंगरेप के मामले में पांच साल पहले मर चुके व्यक्ति को गवाह बनाया गया है। कैमूर जिले के भगवानपुर थाना के परमालपुर गांव में दशहरा पूजा के दौरान घर लौट रही युवती से गांव के ही तीन युवकों ने गैंग रेप किया था। युवती के चिल्लाने कि आवाज सुनकर जुटे लोगों ने उसकी जान बचायी थी।

Read Latest Bihar News

घटना के बाद से तीनों युवक फरार हो गए थे। तीनों लोगों पर भभुआ महिला थाने में मामला दर्ज किया गया था जिसमें एक युवक को गिरफ्तार भी कर लिया गया था। रेप की शिकार युवती को केस उठाने के लिए भी लगातार धमकी मिल रही थी।

10 अक्टूबर 2016 को हुई इस घटना में पीड़िता पक्ष की तरफ से दो गवाह बनाये गये थे जिसमें एक गवाह शिव बचन सिंह पिता-स्वर्गीय राम नाथ सिंह कि मृत्यु 6 अगस्त 2011 को ही हो चुकी है। मृतक के मरे पांच वर्ष हो चुके हैं लेकिन उसे गवाह बना दिया गया है।

पीडीता के परिजनों का कहना है कि जिससे गवाही लेनी थी पुलिस ने उससे गवाही नहीं ली और फिर पांच वर्ष पहले मर चुके इंसान को केस में गवाह बना दिया। पुलिस पैसा लेकर केस को कमजोर करना चाहती है। पुलिस ने अपनी डायरी में मुर्दे को न्यायालय के कटघरे में गवाही के लिए खड़ा कर दिया है।

कैमूर की एसपी हरप्रीत कौर ने इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए संबंधित पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई कर पीड़िता को न्याय दिलाने कि बात कही है।