भिखारी है बिहार सरकार: शहीद की पत्नी

402
0
SHARE

भोजपुर: जम्मू-कश्मीर के उरी में शहीद हुए 18 जवानों के परिजनों को मुआवजा देने की घोषणा कई राज्यों ने की है। इसमें से सबसे कम 5 लाख रुपए के मुआवजा की घोषणा बिहार सरकार ने की थी। नीतीश सरकार द्वारा दिए गए कम मुआवजे की आलोचना हो रही थी, जिसके बाद सरकार ने मुआवजे की राशि 5 लाख से बढ़ाकर

बिहार के भोजपुर जिले के शहीद अशोक सिंह की पत्नी संगीता ने मुआवजा लेने से इंकार किया है। उसने कहा कि बिहार सरकार भिखारी है। उसके भीख की जरूरत मुझे नहीं है। उसका भीख हम क्यों लेंगे। सोन खोने के बाद नहीं है कोयले की चाह। सब सरकार जब 20 लाख दान किया है तो वे 5 लाख क्यों दे रहे हैं? हमारा पति कोई शराब पीकर या नाली में गिरकर नहीं मरा है। हमको नहीं चाहिए उसका पैसा, वह अपना रखे।

पटना मुख्यालय से मात्र 100 किलोमीटर की दूरी पर रहने वाले शहीद आशोक सिंह के परिवार में उस वक़्त मातम छा गया जब उन्होंने अपने वीर सपूत के शहादत की खबर सुनी। और हद तो तब हो गई जब राज्य सरकार ने शहीद जे परिवार को पांच लाख रुपए मुआवजे की राशि देने की घोषणा की। शहीद की पत्नी ने कहा कि मेरे पति शहीद हुए है मुझे सरकार की 5 लाख की भीख नहीं चाहिए। मैं केंद्र सरकार से मिलकर अपने 6 मटकियां जे सैनिको को आज़ाद करने की मांग करंगी ताकि ईट का जवाब पत्थर से दिया जा सके। और पाकिस्तान की मुह तोड़ जवाब मिले।

नीतीश के मुआवजे से संबंधित ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर मजाक उड़ने लगा है। सोशल मीडिया पर लोगों ने कमेंट किया है कि 5 लाख तो शहाबुद्दीन के रिहाई पर जश्न मनाने में खर्च कर दिए आपके लालटेन वाले मित्र। ये भी रख लीजिए। अगली बार काम आ जाएंगे।