ओडीएफ मिशन में लगे तमाम अधिकारी

477
0
SHARE

औरंगाबाद – जिले को खुले से शौच मुक्त बनाने के उद्देश्य से जिले के सभी अधिकारी जी जान से लगे हुए हैं और सभी प्रखंडों के विभिन्न पंचायतों के गांवों में जाकर ग्रामीणों को शौचालय निर्माण के प्रति जागरूक करने की कोशिश में लगे हुए है। इस कार्य में जिलाधिकारी समेत सभी बीडीओ, अंचलाधिकारी के साथ-साथ स्थानीय जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग प्राप्त हो रहा है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर जिले के कुल 150 पंचायतों को अगले दो माह के अंदर खुले से शौचमुक्त कर देने के उद्देश्य से शौचालय निर्माण के लिए गड्ढा खोद अभियान की शुरुआत की गई।

इसी कड़ी में जिलाधिकारी राहुल रंजन महिवाल ओबरा प्रखंड के डिहरा पंचायत के नवनेर गांव पहुंचे और शौचालय निर्माण के लिये चिन्हित की गई स्थलों का भ्रमण कर हाथों में कुदाल उठाया और गड्ढे की खुदाई की। एक जिलाधिकारी को हाथों में कुदाल लेकर शौचालय निर्माण के लिए गड्ढे की खुदाई करता देख ग्रामीणों को इसके महत्व का एहसास हुआ और कई ग्रामीण इसके प्रति संकल्पित हुए। इस दौरान जिलाधिकारी ने पिछड़े और महादलित टोलों का भी भ्रमण किया और घूम-घूमकर लोगों को शौचालय निर्माण एवं उसके प्रयोग हेतु प्रेरित किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने खुले में शौच करने के कारण होने वाली परेशानियों एवं उससे उत्पन्न खतरों से ग्रामीणों को अवगत कराते हुए शौचालय निर्माण की अपील की।

उन्होंने बताया कि ओडीएफ के मामले में अभी ओबरा प्रखंड सबसे अगली पंक्ति सबसे आगे है लेकिन कुछ ऐसे पंचायत हैं जो पीछे चल रहे है उन्हें अगले दो महीनों के अंदर ही पूर्ण कर लिया जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि सभी नए शौचालय निर्माण कराने वाले लाभुकों को इसकी राशि का भुगतान एक सप्ताह के अंदर कर दिया जाएगा जिसके लिए सभी अधिकारी को निर्देश दिया जा चुका है। ग्रामीणों ने भी पंचायत और प्रखंड स्तर पर सरकारी योजना का लाभ लेने के दौरान आने वाली कठिनाईयों से अवगत कराया।