प्रोफेसर की पिटाई मामले में विपक्ष के सभी छात्र संगठन 25 अगस्त को आंदोलन करने के लिए तैयार

150
0
SHARE

मोतिहारी – महात्मा गांधी केन्द्रीय विश्वविद्यालय के सहायक प्रोफ़ेसर की पिटाई का मामला रुकने का नाम नहीं ले रहा है. लिहाजा, राज्य से सभी छात्र संगठनों के नेताओं का जुटान आगामी 25 अगस्त को मोतिहारी में होगा और व्यापक आन्दोलन का शंखनाद करेंगे. विभिन्न संगठनों के छात्र नेता मोतिहारी में प्रतिवाद मार्च कर अपना विरोध जताएंगे. इस प्रतिवाद मार्च में अईसा, एआईएसएफ, छात्र राजद, छात्र हम (सेकु.), सीव्वाईएसएस, छात्र (रांकपा), एनएसयूआई, एआईडीएसयू समेत कई छात्र संगठन भाग लेंगे. इस बात की जानकारी विपक्षी छात्र संगठनों की पूर्वी चंपारण इकाई ने प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर दी.

दरअसल, विगत 17 अगस्त को अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद एमजीसीयू के समाजशास्त्र के प्रोफ़ेसर संजय कुमार के फेसबुक पोस्ट पर बवाल हो गया और संजय कुमार द्वारा अटल बिहारी वाजपेयी पर किये गए आपत्तिजनक पोस्ट पर कुछ युवकों ने उनकी जमकर धुनाई कर दी. जिस कारण वे गंभीर रूप से जख्मी हो गए. जिनका इलाज दिल्ली में चल रहा है. इस घटना के बाद बिहार में पक्ष और विपक्ष की राजनीति शुरू हो गयी. विपक्षी इसे आरएसएस, बजरंग दल और भाजपा की साजिश बता रहे हैं. तो सत्ता पक्ष के लोग प्रोफ़ेसर की पिटाई करने वालो को राष्ट्रभक्त बता रहे है.

इसी बीच कुलपति ने अपने निहित शक्तियों का उपयोग करते हुए विश्वविद्यालय को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया. जिसके बाद विपक्ष के सभी छात्र संगठनों ने मोर्चा सम्भाला और आगामी 25 अगस्त को मोतिहारी से व्यापक आन्दोलन छेड़ने के लिए इकठ्ठा हो रहे हैं. मोतिहारी पहुँचने वाले सभी छात्र संगठन प्रोफ़ेसर संजय कुमार के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने, विश्वविद्यालय को सुचारू रूप से चालु करने, मारपीट करने वाले युवकों को राष्ट्रवादी बताने वाले पर्यटन मंत्री के इस्तिफा के अलावा कई मांगो के समर्थन में आन्दोलन की शंखनाद करेंगे.