5 दिनों बाद अनशन कर रहे टोला सेवकों ने तोड़ा अनशन

71
0
SHARE

मोतिहारी – अपने समायोजन की मांग को लेकर पिछले पांच दिनों से जिला शिक्षा अधिकारी के कार्यालय कक्ष के गेट पर अनशन कर रहे टोला सेवकों ने सदर एसडीओ के आश्वासन के बाद अनशन समाप्त कर दिया. सदर एसडीओ ने टोला सेवकों को आश्वासन दिया कि उनकी मांगो पर विचार करते हुए उसका एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर डीएम को सौपेंगे और आगामी शुक्रवार को डीएम के साथ टोला सेवको की वार्ता होगी. जिसमें उनके समस्यायों का समाधान निकाला जायेगा.

दरअसल, जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय कक्ष के गेट पर पूर्व से वंचित 113 टोला सेवक और शिक्षा स्वयं सेवकों के समायोजन को लेकर पूर्वी चंपारण के टोला सेवक विगत 03 सितम्बर से आमरण अनशन पर बैठे हुए थे. जिसमें महिला और पुरुष टोला सेवक शामिल थे. अनशन पर बैठे सात अनशनकारियों में तीन महिला समेत तीन पुरुष टोला सेवकों की स्थिति गंभीर बनी हुयी थी जिन्हें सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

गौरतलब है कि वर्ष 2014 में बहाल कुल 328 टोला सेवकों में से 113 टोला सेवकों को 16 माह काम करने के बाद रिक्ति से ज्यादा बहाली की बात कहते हुए बिना मानदेय का भुगतान किये उन्हें चयन मुक्त कर दिया गया. जिसके बाद जिले में काफी आन्दोलन हुआ. लिहाजा, शिक्षा विभाग ने चयनमुक्त हुए 113 टोला सेवकों के समायोजन का आश्वासन दिया था. लेकिन दो वर्ष बीत जाने के बाद भी जब इन टोला सेवकों का समायोजन नहीं हुआ. तो ये लोग अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठ गए थे. लिहाजा, पिछले पांच दिनों से अनशन पर बैठे टोला सेवको की सुधि जिला प्रशासन ने ली और उनका अनशन तोड़वाया.