सांसद पप्पू यादव गिरफ्तार, रोकर स्पीकर से लगाई गुहार कहा-‘कुछो करियो’

656
0
SHARE

पटना समाचार – (Patna News) मधेपुरा सांसद और जन अधिकार पार्टी (जाप) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव को सोमवार की रात पटना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद उन्हें बेउर जेल भेज दिया गया। इससे पहले, जब पुलिस उनके मंदिरी स्थित आवास पर पहुंची और उन्हें अपनी गिरफ्तारी की भनक लगी तो उन्होंने तत्काल लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को फोन लगाया।

Read More Patna News in Hindi

फिर दहाड़ मारकर रोने लगे। उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष से कहा,‘ये लोग हमें फंसा रहे हैं। जान मार सकते हैं। अपने त माई दाखिल छिओ। कुछो करियो।’ फिर उन्होंने कहा-प्रणाम गोड़ छू के। जब सांसद ये बातें कह रहे थे उस वक्त उनके कमरे का दरवाजा बंद था और भीतर बस कुछ लोग और पुलिसवाले थे। पुलिस ने सांसद को गिरफ्तार कर सिविल कोर्ट के जज जावेद अहमद के आवास पर पेश किया। जज ने सांसद को न्यायिक हिरासत में लेने का आदेश दिया। इसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया।

रात नौ बजकर 20 मिनट पर सांसद के आवास पर पहुंचे गांधी मैदान थानाध्यक्ष प्रियरंजन कुमार ने उन्हें केस नंबर 49/17 का हवाला देते हुए वारंट दिखाया। इसके बाद सांसद समझ गए कि उन पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है और उन्होंने स्पीकर को फोन किया। गौरतलब है कि हाल ही में जाप कार्यकर्ताओं ने गांधी मैदान के समीप प्रदर्शन किया था। उस समय भी पथराव हुआ था। उसी मामले में सांसद पर वारंट निकला है। पुलिस ने उन पर हुए नए केस का भी हवाला दिया। पप्पू यादव ने खुद को निर्दोष बताया और कहा कि मुझे जान से मारने की कोशिश की जा रही है। पप्पू को गिरफ्तार करने के लिए पटना पुलिस उनके आवास पर भी गई थी, लेकिन उन्होंने वारंट न होने का हवाला दिया और गिरफ्तारी नहीं दी। सांसद और जाप अध्यक्ष पप्पू यादव की गिरफ्तारी का हाई वोल्टेज ड्रामा मंदिरी स्थित उनके आवास क्वालिटी काम्प्लेक्स पर घंटों तक चलता रहा। पटना पुलिस के एएसपी रैंक से लेकर डीएसपी और तीन थानों के थानेदार दलबल के साथ घंटों डेरा डाले रहे।

Read More Bihar News in Hindi

उधर सांसद पप्पू यादव की पार्टी के कार्यकर्ता और समर्थकों ने भी क्वालिटी कॉम्प्लेक्स के ऊपर से लेकर नीचे तक जमे थे। पुलिस के अधिकारी जब एक जगह बैठे होते थे, तो कार्यकर्ता भी शांत रहते थे जैसे ही अधिकारियों की गतिविधि शुरु होती, कार्यकर्ताओं में भी हलचल बढ़ने लगता था। करीब 6 घंटे से पुलिस और कार्यकर्ता बिल्डिंग के सबसे ऊपरी तल्ले पर जमा थे। गिरफ्तारी के पहले अपने दफ्तर में ही सांसद पप्पू यादव डटे रहे। पुलिस ने पप्पू यादव की गिरफ्तारी गांधी मैदान थाना के एक पुराने मामले में जारी वारंट के आधार पर की है। पहले पप्पू ने कहा था कि बगैर वारंट देखे गिरफ्तारी नहीं देंगे। उन्होंने संसद के सत्र को लेकर दिल्ली जाने की बात भी कही थी, लेकिन पुलिस ने नहीं सुनी। सांसद का मेडिकल भी कराया गया है। इससे पहले सोमवार को दिन में गर्दनीबाग में जाप कार्यकर्ताओं और पुलिस में जमकर पथराव हुआ। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इसमें कई कार्यकर्ता और पुलिसकर्मी घायल हो गए। पप्पू यादव को भी कमर में चोट लगी थी।

बिहार में बिजली की दरों में बढ़ोतरी के खिलाफ और बिहार कर्मचारी चयन आयोग (बीएसएससी) परीक्षा में प्रश्नपत्र लीक मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग को पप्पू यादव प्रदर्शन कर रहे थे। इस दौरान सोमवार को सांसद पप्पू यादव की पार्टी के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प भी हुई। इसमें कई लोग घायल हो गए। इस प्रदर्शन में जन अधिकार पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ता विधानसभा का घेराव करने सड़क पर उतरे थे। पुलिस को प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े और लाठीचार्ज करना पड़ा। प्रदर्शनकारियों ने भी पुलिस पर पथराव किया। इस झड़प में दोनों तरफ के करीब एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार पटना के गर्दनीबाग स्थित मैदान में सुबह ही सैकड़ों कार्यकर्ता जुट गए थे, और इसके बाद पप्पू यादव के नेतृत्व में कार्यकर्ता विधानसभा का घेराव करने जा रहे थे।

इस दौरान पुलिस ने पप्पू समर्थकों को रोकना चाहा। पुलिस के अनुसार, विधानसभा की ओर जाने से रोके जाने पर कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए, उन्होंने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। जवाब में पुलिस ने भी जमकर लाठियां भांजीं और कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ने से रोकने के लिए पानी की बौछार (वॉटर कैनन) का भी इस्तेमाल किया।