मुकेश सहनी प्रकरण पर बोले सीएम नीतीश, उनसे गलती हो गई है अब माफ कर दीजिए

70
0
SHARE

PATNA: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज पटना के टीपीएस कॉलेज में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए।इस कार्यक्रम में सीएम के साथ शिक्षा मंत्री विजय नारायण चौधरी भी मौजूद रहे। इस दौरान मीडिया ने सीएम नीतीश से मुकेश सहनी मामले में सवाल किया तो उन्होंने यह बात कही की उनसे गलती हो गई है अब माफ कर दीजिए। उन्होंने यह स्वीकार किया है कि , उनके यह चूक हुआ है।

सीएम नीतीश ने कहा कि हमको इस बारे में मालूम नहीं है। यह बात जानकर मुझे आश्चर्य हुआ है। मुझे इस बात की जानकारी विधानसभा में हुआ है। तभी मैंने कह दिया था कि इस पर जरूर बात करेंगे। सीएम नीतीश ने कहा कि मंत्री मुकेश सहनी कुछ पुराने मामलों का उदाहरण दे रहे थे। लेकिन मैंने स्पष्ट तौर पर कहा कि जब किसी को कार्यक्रम में बुलाया जाता है। तभी वह शामिल होता है किसी भी पार्टी का नेता या कार्यकर्ता कार्यक्रम में मौजूद रह सकता है।लेकिन कार्यक्रम में जो आपको भूमिका निभानी है। वह किसी पार्टी का दूसरा आदमी नहीं निभा सकता है।  सीएम ने कहा कि सबको अधिकार का है किसी भी कार्यक्रम में जा सकता है।

गोपालगंज खजुरबानी जहरीली शराब कांड के दोषियों को सजा दिए जाने पर सीएम नीतीश ने कहा कि जब 2017 में शराबबंदी हुआ हुआ था।उसी साल में गोपालगंज में यह घटना हुआ था। जिसके बाद जांच कर मुकदमा दर्ज किया गया। जिसमे बाद कोर्ट ने दोषियों को यह सजा सुनाया है। न्यायालय की इस फैसले से उनलोगों को सबक मिलेगी,जो लोग गलत करने में लगे है।  सीएम नीतीश ने कहा कि लोगों को यह समझना चाहिए कि शराबबंदी कई लोगों के हित मे है। इस घटना के समय हमने कहा था कि शराब पीजियेगा, जहरीला शराब मिलेगा और आपलोग मृत्यु के शिकार होंगे। इसलिए कभी किसी पर भरोसा नहीं कीजिये। महिला युवती की शराबबंदी की मांग थी। पहले लोग जो शराब पीते थे। उस घर की महिला और बच्चों को बहुत परेशानी होती थी। सीएम ने कहा कि शराबबंदी लोगों की हित मे है।

सीएम ने कहा कि आज भी कही कही जहरीला शराब की बात हो रही है। जिसका जांच चल रही है। सबको यह समझना चाहिए कि जब भी आप यह गलत काम करना चाहेंगे तो आपको और धोखा मिलेगा। इसलिए हम सबसे प्राथर्ना करेंगे कि यह काम नहीं करें। बिहार में महिलाओं की सशक्त मांग थी। इसलिए हमलोग शराबबंदी को बिहार में लागू किया। सीएम ने कहा कि कुछ न कुछ गड़बड़ करने वाले होते है। सभी लोग सही नहीं हो सकते है। इतिहास में सारेचीजों को देख लीजिए , कोई कोई व्यक्ति होते है, जो कि गड़बड़ करने में लगे रहते है। लेकिन इसपर नजर रखनी चाहिए। इस पर अभियान चलाया चाहिए।

सीएम नीतीश ने कहा कि की और जो लोग गड़बड़ करते है , अगर उनलोगों को इस तरह से सजा होती है तो लोगों को समझ मे आयेगा की अगर हम इस तरह का गंदा काम करेंगे तो हमको भी सजा मिलेगी। सीएम ने कहा कि बीच मे गड़बड़ करने वालों की संख्या बढ़ गई थी। लेकिन अब धीरे धीरे यह कम हो रहा है। और पूरे तौर पर इसकी जांच की जा रही है। इसको लेकर हमेशा अधिकारी के साथ मीटिंग होते रहती है। इस बारे में हम अधिकारी से जानकारी लेते रहते है।