लालू के दावे पर अपना स्टैंड स्पष्ट करें नीतीश: सुशील मोदी

260
0
SHARE

पटना: बिहार प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को कहा कि पेटीएम का विरोध कर रहे लालू यादव में अगर हिम्मत है तो मुख्यमंत्री पर दबाव डाल कर बिहार के तीन जिलों में काम कर रही चीन की ट्राइटेक कम्पनी को भगा दें।

Read More Patna News in Hindi

उन्होंने कहा कि लेस कैश और डिजिटल ट्रांजेक्शन की हंसी उड़ा रहे लालू यादव ने कभी आईटी-वाईटी क्या होता है, कह कर आईटी का भी उपहास उड़ाया था। आज उसी ट्विटर और फेसबुक का इस्तेमाल कर प्रधानमंत्री को कोस रहे हैं।

Read More Bihar News in Hindi

मोदी ने लालू यादव का बयान कि नोटबंदी के विरोध में राजद के आंदोलन में नीतीश कुमार शामिल होंगे पर मुख्यमंत्री अपना स्टैंड स्पष्ट करें।

मोदी ने कहा कि बिहार के बक्सर, हाजीपुर और बेगूसराय में चीन की ट्राइ-टेक कम्पनी 254 करोड़ के सिवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का काम कर रही है। लालू यादव को अगर चीनी कम्पनी से इतनी ही चिढ़ है तो मुख्यमंत्री से बात कर काम बंद करवा दें और बोधगया, नालंदा के चीनी मोनिस्टरी तथा ह्वेनसांग स्मारक को भी तोड़वा दें।

नोटबंदी का विरोध करने के लिए पथ निर्माण मंत्री बयान दे रहे हैं कि ठेकेदार मजदूरों का भुगतान नहीं कर पा रहे हैं। मंत्री को बताना चाहिए कि क्या ठेकेदारों को सरकार नगद भुगतान करती है? अगर ठेकेदारों को आरटीजीएस से भुगतान होता है तो क्या मजदूरों का बैंक में खाता खोल कर उन्हें आनलाइन पेमेंट नहीं किया जा सकता है?

मोदी ने कहा कि चंडीगढ़ नगर निकाय के चुनाव में नोटबंदी को मुद्दा बनाने वाली कांग्रेस जहां चार सीट पर सिमट गई वहीं 21सीट के साथ भाजपा-अकाली गठबंधन को शानदार सफलता मिली है।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद महाराष्ट्र व अन्य कई प्रदेशों के स्थानीय चुनावों में भी जनसमर्थन भाजपा के पक्ष में रहा है। लालू यादव के विरोध के कारण ही बिहार आईटी क्षेत्र में फिसड्डी रह गया, कहीं अब लेस कैश और डिजिटल ट्रांजेक्शन के अभियान में भी पीछे न रह जाए, जबकि आम जनता तो प्रधानमंत्री के निर्णय के साथ है।