नोटबंदी पर नीतीश ने फिर से गढ़े पीएम मोदी की शान में कसीदे

893
0
SHARE

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को एक बार फिर नोटबंदी पर अपना समर्थन जारी रहने की बात कही है। नीतीश ने कहा कि 500 और 1000 रुपये की नोटबंदी के मुद्दे पर पूरी तरह से केन्द्र सरकार के साथ हूं। विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के पहले दिन शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने विधानसभा के कार्यालय कक्ष में संवाददाताओं के साथ बातचीत की।

नीतीश कुमार ने कहा कि देश में नोटबंदी के साथ बेनामी संपत्ति रखने वालों पर की जाने वाली सख्त कार्रवाई के बाद ही कालेधन पर रोक लग सकेगी। उन्होंने कहा कि जो लोग अपनी तिजोरियों में हीरे-जवाहरातों को सजा कर रखे हुए हैं, उन पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इन सबके साथ जरूरी यह भी है कि देश में शराबबंदी कानून को लागू किया जाये। उन्होंने कहा कि शराबबंदी के बिना कालेधन पर रोक लगना संभव नहीं है।

उन्होंने कहा कि हम तो शुरू से ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस फैसले की तारीफ कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री का फैसला कालाधन के खिलाफ साहसिक कदम है। जिस दौरान मुख्यमंत्री संवाददाताओं से बातें कर रहे थे तब पीएम के फैसले की आलोचना करने से नहीं थकने वाले कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और शिक्षा मंत्री डॉ. अशोक चौधरी भी उनके साथ बैठे थे।

नीतीश ने अपने चिरपरिचित अंदाज में कहा कि प्रधानमंत्री ने बहुत बढ़िया कदम उठाया है और ऐसे फैसलों का स्वागत होना चाहिए। नीतीश के मुताबिक नोटबंदी से देश की अर्थव्यवस्था को हर हाल में लाभ ही होगा।

नीतीश कुमार ने कहा कि हमारी पार्टी कालाधन पर रोक लगाने के लिए बड़े नोटों को चलन से बाहर करने की मांग काफी दिनों से कर रही थी लेकिन ये बात अगल है कि केंद्र सरकार ने बिना किसी पूर्व तैयारी के ही अचानक नोटबंदी का फैसला कर लिया।

मालूम हो कि नोटबंदी के फैसले पर जहां नीतीश लगातार पीएम की प्रशंसा और समर्थन कर रहे हैं वहीं महागठबंधन सरकार में नीतीश के दोनों सहयोगी दल राजद और कांग्रेस के नेता इस फैसले का लगातार और एक स्वर से विरोध कर रहे हैं।