ओमपुरी के बयान पर देश में भड़का गुस्सा

1383
0
SHARE

पटना: जम्मु कश्मीर में हुए आतंकी हमलों के दौरान जवानों की शहादत पर फिल्म अभिनेता ओमपुरी ने एक टीवी शो में कहा कि हमने किसी जवान को फोर्स किया था कि फौज में जाओ।

ओमपुरी ने कहा कि उनको (सेना) हमारी जरूरत नहीं है। पहली बार हमने पाकिस्तान को दिखाया कि हम सिर्फ भौंकते ही नहीं, काट भी सकते हैं। पहले के नेताओं ने क्यों ऐसा नहीं किया। मोदी सरकार ने क्यों बदला लेने की सोची, क्या नाना जी (नाना पाटेकर) ने सोची? हमने ये गलतफहमी निकाल दी कि हम नपुंसक हैं।

उन्होंने कहा कि हमारे दांत हैं, हमें काटना आता है। हम काटते नहीं है क्योंकि हम काटने में विश्वास नहीं रखते हैं। अब हम काटेंगे और बार-बार काटेंगे। हमें फक्र है आर्मी पर। हिन्दुस्तान भी एक मुस्लिम देश हैं। पहले नंबर पर इंडोनेशिया, दूसरे पर हम और तीसरे पर पाकिस्तान है। उनके (पाक आर्टिस्ट्स) रिश्तेदार भी यहां रहते हैं। ये क्या सलमान खान-सलमान खान लगा रखा है।

मैं मजदूर आदमी हूं, मैं तो काम करूंगा। सरकार क्यों नहीं उनके (पाक आर्टिस्ट्स) वीजा कैंसल करती है। बना लो अफगानिस्तान और इजराइल। आप क्यों गंदी-गंदी फिल्में बनाकर पाकिस्तानियों पर थूकते रहते हो।

ओमपुरी के इस बयान के बाद पूरे देश में निंदा हो रही है। वहीं बिहार में शहीद जवान एसके विद्यार्थी की बेटी ने कहा कि कि जवान अपनी और देश की सुरक्षा के लिए हथियार उठाते है। देशद्रोही ब्यान है। भारत सरकार के द्वारा दिए गए सभी अवार्ड को वापस करे जो अपनी पब्लिसिटी के लिए ऐसा ब्यान देते है।

शहीद की पत्नी ने कहा कि खुद बॉर्डर पर जाएं और देखें कि हथियार उठाना कितना सही है। जवान देश की सुरक्षा में हथियार उठाते है। पहले आतंकवादी हथियार उठाते है। तभी तो जवान हथियार उठाते है। अगर आज ओम पुरी यह बोल रहे है तो भारतीय जवान की बदौलत वरना आज बोलने के लायक नही होते।