आत्मदाह करने वाले दो किसानों में एक की मौत, चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष के दिन दो किसानों ने की थी आत्मदाह की कोशिश

459
0
SHARE

बिहार के मोतिहारी जिले में बकाये वेतन की भुगतान और चीनी मील को खुलवाने को लेकर सोमवार को किसानों ने आन्दोलन कर विरोध प्रदर्शन किया था। उसी दौरान अपनी मांग को लेकर दो किसानों ने आत्मदाह करने की कोशिश की थी। जिसमें में से एक नरेश श्रीवास्तव की मौत हो गई है।

Read More Motihari News in Hindi

सोमवार को चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष के दिन ही दो किशानों ने आत्मदाह की कोशिश की थी जिसमें बुरी तरह से जल चुके नरेश का पटना के पीएमसीएच में इलाज चल रहा था। जहां मंगलवार को उसकी मौत हो गई है। जानकारी के मुताबिक मोतिहरी के चीनी मिल मजदूर बकाये वेतन की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। इसी दौरान दो मजदूरों ने आत्मदाह कर लिया था।

Read More Bihar News in Hindi

दूसरा मजदूर सुरक्षित बताया जा रहा है। इस घटना से नाराज किसानों ने जमकर हंगामा भी किया था व चीनी मिल पर पथराव भी। जिसको लेकर मजदूरों और पुलिस के बीच झड़प हो गई थी। जिसके बाद पुलिस ने हवाई फायरिंग की। प्रदर्शन के दौरान आत्मदाह करने वाले दोनों किसानों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। मंगलवार को नरेश के निधन की सूचना मिलने के बाद किसान फिर गुस्से में हैं। उनका कहना है कि प्रशासन की लापरवाही के कारण ही नरेश मौत हुई है।

Read More East Champaran News in Hindi

विदित हो कि किसानों की पीड़ा को जानने के लिए 100 साल पहले महात्मा गांधी चंपारण की धरती पर आए थे और सत्याग्रह कर ‘तीनकठिया’ प्रथा से मुक्ति दिलाई थी।