सिर्फ 500 लोग खीचेंगे पुरी में भगवान जगन्नाथ के रथ को, पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने दी बधाई

252
0
SHARE

DESK: कोरोना संकट काल के इस दौर में तमाम दिशा-निर्देशों के बीच आज से विश्‍व प्रसिद्ध भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा शुरू हो गयी. 2500 साल से ज्यादा पुराने रथयात्रा के इतिहास में पहली बार ऐसा मौका है, जब भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकल रही है, लेकिन भक्त घरों में कैद हैं. रथयात्रा से पहले पुरी को शटडाउन कर दिया गया था. पुरी में रथ यात्रा के दौरान कोरोना के मद्देनजर कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध हैं.

अहमदाबाद में भी रथयात्रा

अहमदाबाद में रथयात्रा मंदिर परिसर से बाहर नहीं निकलेगी. सोमवार देर रात तक कोर्ट में जिरह हुई लेकिन कोर्ट ने कहा कि पुरी और अहमदाबाद की स्थिति एक जैसी नहीं है. रथयात्रा की अनुमति नहीं दे सकते. आज सुबह गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी मंदिर पहुंचे और सोने के झाड़ू से झाड़ू लगाया. चंद भक्तों के बीच सुबह 4 बजे मंगला आरती और दर्शन शुरू हुए. भगवान जगन्नाथ को रथ में बिठाकर पूरे दिन भक्त मंदिर परिसर में ही दर्शन कर सकेंगे. सिर्फ 10 लोगों को एक साथ मंदिर परिसर में आने की इजाजत मिलेगी. सोशल डिस्टेंसिंग और थर्मल चेकिंग के बाद भक्तों को मंदिर में आने दिया

एगा.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी शुभकामनाएं

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया, रथ यात्रा के पावन अवसर पर सभी देशवासियों, विशेष रूप से ओडिशा में प्रभु जगन्नाथ के श्रद्धालुओं को बधाई. मैं कामना करता हूं कि प्रभु जगन्नाथ की कृपा, कोविड-19 का सामना करने‌ के लिये हमें साहस व संकल्प-शक्ति प्रदान करे और हमारे जीवन में स्वास्थ्य और आनंद का संचार करे.

पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं

रथ यात्रा के पावन-पुनीत अवसर पर पीएम मोदी ने दी शुभकामनाएं

सीएम नीतीश कुमार ने दी शुभकामनाएं

रथ यात्रा के पावन अवसर पर सीएम नीतीश कुमार ने पूरे बिहारवासियों को शुभकामनाएं और बधाई दी

रांची में 300 साल से ज्यादा चली आ रही परंपरा आज टूट गई

कोरोना के कहर के चलते रांची में रथयात्रा नही निकाला जाएगा. रांची में जगन्नाथ मंदिर की रथयात्रा को लेकर जिला प्रशासन की तरफ से पहले ही  रथयात्रा स्थगित करने की सूचना दे दी गई थी. कोरोना वायरस के संक्रमण के रोकथाम और जनमानस की सुरक्षा को लेकर ये आदेश जारी किया गया था, रांची में भगवान जगन्नाथ मंदिर में सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है और किसी भी भक्त को मंदिर में प्रवेश करना में मनाही है.