जन प्रिय नेता मुन्द्रिका सिंह यादव के अंतिम दर्शन में उमड़ा जन सैलाब

531
0
SHARE

नम हुई सबकी आंखें

अमर रहे के नारे से गूंजता रहा पूरा वातावरण
डीएम, एसपी, विधायकों एवं नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

जहानाबाद – हरदिल अजीज नेता एवं विधायक मुन्द्रिका सिंह यादव का पार्थिव शरीर जैसे ही जहानाबाद पहुंचा पूरा वातावरण गमगीन हो गया। ‘मुन्द्रिका सिंह यादव अमर रहे’ के नारों से पूरा वातावरण गूंजता रहा। शहर के मुख्य मार्ग से होती हुई शव यात्रा कारगिल चौक, अम्बेदकर चौक से होता हुआ ताज रेस्ट हाउस के पास पहुँचा। वहाँ पर पहले से ही डीएम आलोक रंजन घोष, एसपी मनीष कुमार, पूर्व मंत्री एवं विधायक सुरेंद्र यादव, विधायक रविन्द्र सिंह, एमएलसी मनोरमा देवी, पूर्व विधायक डॉ मुन्नीलाल यादव, डॉ सच्चितानंद यादव एवं कृष्णनंदन यादव सहित भारी संख्या में राजद कार्यकर्त्ता और दूसरे दलों के भी नेता मौजूद थे।

पुख्ता सुरक्षा बंदोबस्ती के बीच शव को अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। अपने जनप्रिय एवं जुझारू नेता को श्रद्धांजलि देने की भीड़ उमड़ पड़ी। अंतिम दर्शन के बाद विधायक मुन्द्रिका सिंह यादव के शव को पटना रवाना कर दिया गया जहाँ राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार होना है। यहाँ बताते चले कि मुंद्रिका सिंह यादव ने सचिवालय की सरकारी नौकरी छोड़ कर राजनीति शुरू की थी और समाजवादी राजनीति के साथ-साथ वे जगदेव प्रसाद के सच्चे अनुयायी थे।

1990 में कुर्था से विधायक बनने पर लालू यादव के मंत्रीमंडल में स्वास्थ्य राज्य मंत्री थे। 1995 से 2000 तक जहानाबाद के एमएलए रहे। 2004 में एमएलसी बने और फिर 2015 में राजद के टिकट पर जहानाबाद के एमएलए बने। रामकृपाल यादव के राजद छोड़ने पर लालू यादव ने इन्हें पार्टी का प्रधान महासचिव भी बनाया। मुंद्रिका यादव अपने जुझारूपन के कारण निडर, निर्भीक और शेर दिल इंसान कहे जाते थे। मुंद्रिका यादव की पहचान आंदोलन पुरुष के रूप में थी। सत्ता में रहते भी आंदोलन किया और विपक्ष में रह कर भी कई बार लाठियां खाई। मुंद्रिका यादव के तेवर और जुझारूपन के कायल उनके राजनीतिक विरोधी भी रहे है।

WhatsApp Image 2017-10-25 at 11.24.50 AM

WhatsApp Image 2017-10-25 at 11.24.49 AM

WhatsApp Image 2017-10-25 at 11.24.47 AM

WhatsApp Image 2017-10-25 at 11.24.44 AM

WhatsApp Image 2017-10-25 at 11.24.41 AM

WhatsApp Image 2017-10-25 at 11.24.40 AM