पुलिस की बर्बरता का शिकार हुआ युवक, देर रात मां की दवाई लेने निकला था बाहर

200
0
SHARE

SUPAUL: देश भर में 14 अप्रैल तक सम्पूर्ण लॉक डाउन का आदेश जारी है. ऐसे में बेवजह सड़क पर घूम रहे लोगों के खिलाफ पुलिस सख्त रवैया अपना रही है. लेकिन अब आलम ये है कि जो काम से भी बाहर निकल रहे पुलिस उनकी पिटाई कर रही है. ताजा मामला सुपौल के त्रिवेणीगंज का है जहाँ देर रात दवाई लेने जा रहे युवक की पुलिस ने पिटाई कर दी.

मिली जानकारी के अनुसार त्रिवेणीगंज में देर रात दवा लेने जा रहे एक युवक की पुलिस ने बेरहमी से पिटाई कर दी. जिसमें उसका सर फट गया. हालांकि बाद में स्थानीय मुखिया ने उसका इलाज करवाया और घर भेज दिया. इधर लोगों का आरोप है कि त्रिवेणीगंज पुलिस के बीएमपी के सिपाही ने बर्बरता की है.

स्थानीय लोगों ने बताता कि कल देर शाम अपनी बीमार माँ के लिए दवाई लेने युवक त्रिवेणीगंज बाज़ार जा रहा था. इसी दौरान वह जैसे ही लतौना दक्षिण पंचायत की मुखिया सुलेखा देवी के घर के समीप पहुंचा तो गश्ती कर रही पुलिस बल द्वारा उसे रोक लिया और बिना कुछ पूछे उसकी पिटाई कर दी. इधर पुलिस की इस कार्यशैली से स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल में हैं. लोगों का कहना है कि यहां लोग कोरोना से नहीं पुलिस की बर्बरता से मर जाएगे.

सुपौल से प्रियरंजन सिंह की रिपोर्ट