उपेन्द्र कुशवाहा ने अपने नोटा वाले ट्वीट पर कहा,बैंककर्मी हत्या वाले घटना में दुखिया मां के दिल का जो दर्द है,जो अभिव्यक्ति है, हमने सिर्फ स्वर दिया है,दर्द मां का है

205
0
SHARE

पटना – एनडीए के घटक दल आरएलएसपी के प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा ने सीट बंटवारे पर कहा कि इसपर कोई प्रॉब्लम नहीं है. बातचीत से हल हो जाएगा. ऐसा नहीं है कि बहुत देर हो गया. चुनाव में अभी देर है. रालोसपा को कितनी सीट चाहिए ये जहां बातचीत होगी वहां बताएंगे.

कुशवाहा ने बिहार में बढती अपराध और कानून व्यवस्था पर कहा कि घटना हुई है, उसपर जो कहना था, हमने कह दिया. वहीं अपने नोटा को बहुमत मिलने वाले ट्वीट पर कहा कि हम नालंदा गये थे, जहां बैंककर्मी का अपहरण हुआ था. उनकी मां दौड़ी-दौड़ी आईं और जिस तरह से रो रही थीं, उनका चीत्कार जिस तरह से निकल रहा था. उनकी आंखों के आंसू जिस तरह से निकल रहे थे, उनके मन का जो दर्द था उसको देखकर मैं विचलित हो गया था. कल जो कुछ भी मैंने कहा है, मुजफ्फरपुर की घटना के बारे में या वहां की घटना के बारे में, उस दुखिया मां के दिल का जो दर्द है, जो अभिव्यक्ति है, हमने सिर्फ स्वर दिया है, हमने सिर्फ शब्द दिये हैं, दर्द मां का है. इसपर मुझे कोई पॉलिटिक्स नहीं करनी है. बहुत दर्द भरी घटनाएं हुईं हैं. उस समय प्रतिक्रिया मेरे मन में आई, तो मैंने कहा था कि उसकी आंख जो मैंने देखा था, उसकी अभिव्यक्ति शब्द के माध्यम से बताई.

बता दें कि बुधवार को शेखपुरा के ग्रामीण बैंककर्मी की अपहरण के बाद हत्या की खबर सामने आई थी. पांच दिन पहले हुई मौत के बाद झारखंड से शव बरामद की गयी. जिसपर कुशवाहा ने ट्वीट कर कहा था कि कोई आश्चर्य नहीं ” नोटा ” (नन ऑफ द अबव) विकल्प को राज्य में लोकसभा चुनाव में अधिसंख्य मत चले जायें.