धिक्कारवादी, 420 हैं नीतीश चाचा – तेजस्वी

240
0
SHARE

पटना – गुस्साए तेजस्वी ने आज सारी हदें पार कर दी हैं। आक्रोशित तेजस्वी ने आज अपने ट्विटर से मुख्यमंत्री नीतीश को काफी भला बुरा कहा है। तेजस्वी ने ट्वीट कर लिखा है- श्री श्री धिक्कारवादी 420 नीतीश चाचा जी, रिपोर्ट पढ़िए और बताइये, नंगा होना किसे कहते? बिहारी जनमानस आपसे कह रहा है कि आगे से अपनी जनादेश डकैत मार्का ज़ुबान से गांधी, लोहिया और जेपी का नाम नहीं लेना। किस मुँह से उछल-उछल मुझसे स्पष्टीकरण माँग रहे थे?

इसके साथ तेजस्वी ने एक न्यूज वेबसाइट का लिंक डाला है। जिसमें यह खबर है कि आलोक वर्मा द्वारा केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) को भेजे गए जवाब से ऐसा प्रतीत होता है कि विशेष निदेशक राकेश अस्थाना, प्रधानमंत्री कार्यालय और भाजपा नेता व बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी एक साथ मिलकर आईआरसीटीसी घोटाले में राजद नेता लालू प्रसाद यादव को गिरफ्तार कराने की कोशिश कर रहे थे। जिसमें पीएमओ के एक बड़े अधिकारी मामले को लेकर लगातार संपर्क में थे। खबर में यह भी लिखा गया है कि इस बात की जानकारी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को थी। वेबसाइट ने आगे लिखा है, वर्मा कहते हैं ‘अगर आयोग को इन घटनाओं की पुष्टि करनी है तो मैं पीएमओ के उस अधिकारी और अन्य लोगों के नाम बता सकता हूं जो इस पूरी बहस और बिहार के मुख्यमंत्री को विश्वास में लाने में शामिल थे।’

वहीं रेल घोटाला मामला पर राबड़ी देवी ने अपना भड़ास निकालते हुए इसे विरोधियों का चाल बताया है। उन्होंने कहा है, यह एक झूठा केस है। विरोधी अपने मंसूबों पर कभी कामयाब नहीं होंगे। भगवान पर भरोसा है, न्यायालय पर भरोसा है हमें इंसाफ जरूर मिलेगा।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के ट्वीट पर जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने पलटवार किया है, उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि किसी भ्रष्टाचारी के नाम के आगे श्री श्री लगाना अच्छा नहीं लगता तेजस्वी यादव जी। इसलिए आपके संबोधन में हकमार ही ठीक है। आप तो भ्रष्टाचार में इस कदर नंगे हो चुके हैं कि आपको जनता की नजरें भी नहीं दिखतीं। तेजस्वी जी, आपके परिवार का सामाजिक न्याय भ्रष्टाचार मार्का है और केस.. कोर्ट और जेल आपके परिवार का लाइफ स्टाइल। आप किस मुँह से जनता के सामने स्पष्टीकरण दीजियेगा की भ्रष्टाचार आपने नहीं किया। भ्रष्टाचार के बूते खड़ी अकूत संपत्ति छिपाने से छिपेगी क्या?