प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन ने केंद्र सरकार से उन्हें भी सहायता राशि देने की लगाई गुहार

71
0
SHARE

KAIMUR: सरकार की ओर से कोरोना वायरस को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन लगा दिया गया था और अब अनलॉक की प्रक्रिया चलाई जा रही है. लेकिन निजी स्कूल लॉकडाउन अवधि से लेकर अब तक बंद ही चल रहे हैं. ऐसे में निजी विद्यालय में पढ़ाने वाले शिक्षक और स्टॉफ के सामने परिवार की जीविका चलाने की संकट आ खड़ी हुई है. इसको देखते हुए प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकार से उन्हें भी सहायता राशि देने की गुहार लगाया है.

प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन के उपाध्यक्ष विजय तिवारी ने बताया लॉकडाउन के समय से ही विद्यालय बंद चल रहा है. विद्यालय के शिक्षक और गैर शैक्षणिक कार्य में लगे स्टॉफ के पास खाने-पीने की समस्या उत्पन्न हो गई है, ऐसी स्थिति में हम सभी को भूखमरी से बचाने के लिए सरकार आर्थिक पैकेज उपलब्ध कराएं नहीं तो ऐसी परिस्थिति में अगर हम लोगों के विद्यालय परिवार के किसी भी सदस्य के साथ कोई अनहोनी होता है तो उसके जिम्मेदार भारत सरकार होगी. उन्होंने बताया कि इससे संबंधित पत्र भी हम लोग भारत सरकार को प्राइवेट स्कूल की तरफ से भेज रहे हैं.

कैमूर से दिलीप की रिपोर्ट