पुलिस की कार्रवाई, बालू ओवरलोडिंग ट्रक पार करने के आरोप में 7 इंट्री माफिया गिरफ्तार

345
0
SHARE

KAIMUR: जिले के NH 2 पर ओवरलोडिंग का खेल जारी है। ओवरलोडिंग पर शिकंजा कसते हुए कैमूर प्रशासन ने कई इंट्री माफियाओं को जेल की सलाखों जेल के अंदर भेजें, लेकिन वही इंट्री माफिया पुनः जेल से बाहर आकर अपने इस ओवरलोडिंग के धंधे को तेज कर देते हैं। गुप्त सूचना के आधार पर पटना मोड nh2 पर स्थित एक ढाबा के पास पुलिस जांच करने पहुंची। कई इंट्री माफिया पुलिस को देखते ही भागने लगे पुलिस ने उनका पीछा कर इन माफियाओं को पकड़ा। उनकी निशानदेही पर और उनके साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। पुलिस आज सात इंट्री माफियाओं को बालू ओवरलोडिंग ट्रक पार करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। पहले तो गिरफ्तार इंट्री माफिया अपनी सलिप्तता नहीं बताई। लेकिन पुलिस की गहन जांच के बाद अपनी सलिप्तता स्वीकार कर लिए ,ये सभी लोकेशन का काम करते है और अधिकारियों का लोकेसन देने का काम करते हैं।

गिफ्तार राजीव बताते है कि हम लोग प्रत्येक ट्रक से पांच हजार रुपया से चार हजार रुपये लेकर कुदरा से कर्मनाशा नदी तक के बीच ओवरलोडिंग बालू लदे ट्रकों को पार कराने का काम करते है।

गिरफ्तार इंट्री माफिया ने बताया इस गोरखधंधे में डेहरी से कैमूर के कर्मनाशा नदी तक लगभग 500 लोग इस धंधे में संलिप्त हैं। और बालू लदे ट्रकों को पार कराने का काम करते हैं, और ट्रक को अधिकारियों की निगाहों से बचा कर पार कराते है। ओवर लोड ट्रक को पार कराने की एवज में पैसे लिए जाते यह पैसा अपने बाइक और कार से परिवहन विभाग के अधिकारी को देखकर कि वह कहां पर है ट्रक वाले को फोन कर उनका लोकेशन बता कर कैमूर जिले का इलाका पार कराने के बदले लिया जाता है।

कैमूर एसपी दिलनवाज अहमद बताते हैं चुनाव को लेकर पुलिस के द्वारा एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है पुलिस को सूचना मिली थी कुछ अपराधिक किस्म के लोग nh2 पर सक्रिय हैं तो पुलिस के द्वारा एक टीम बनाकर छापेमारी की गई जिसमें 7 लोगों की गिरफ्तारी हुई जिनके पास से कई मोबाइल और पचास हजार रुपये नगद बरामद हुआ, आगे जांच किया गया। ये सभी लोग लोकेशन और इंट्री का काम करते हैं। ये लोग खनन और परिवहन के अधिकारियों का लोकेशन देख कर बालू की ओवरलोड ट्रक पार कराने का काम करते हैं। इसमें से कई लोग पहले भी जेल जा चुके हैं। ये लोग बहुत लंबे समय से काम जीटी रोड पर कर रहे हैं। ओवरलोडिंग बालू लदे ट्रकों को पार करने के लिए पर ट्रक से 4 हजार से 5 हजार रुपया लिया जाता है इसमें से पूर्व में भी कई लोग जेल जा चुके हैं अभी और लोगों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है।