रामविलास पासवान का शौक या दिखावा !

321
0
SHARE

वैशाली: कानपुर रेल हादसे के बाद देश के जन प्रतिनिधि अपने पूर्व नियोजित कायक्रमो को रद्द कर हादसे के शिकार यात्रियों को मदद करने और मृतकों के लिए शोक संवेदना व्यक्त करने में लगे है। तो वंही केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान पुरे ताम झाम से राजसी ठाठ में रथ पर सवार होकर कुछ इस अंदाज में सोनपुर मेला पहुंचे मानो कोई सम्राट जंग जीतकर वापस लौट रहा हो। वो भी सोनपुर मेला में पहली बार लगाये गए उपभोक्ता विभाग की प्रदर्शनी का उदघाटन करने।

Read News on Ram Vilas Paswan

मेले में जिसने भी यह तस्वीर देखा सभी के पाव कुछ देर के लिये रुक गया। रामविलास पासवान किस तरह अपने विभाग के स्टॉल का उद्घाटन करने पहुंचे है आगे -आगे घोड़ा, इसके पिछे बैंड बाजा और सैकड़ों कार्यकर्ता और फिर राजकुमार की तरह रथ पर सवार पासवान हंसते हुए इस अंदाज से उतरे मानो कोई सम्राट जंग फतह कर लौट रहे है।

गौरतलब है की आज जब पुरे देश की आंखे खुली तो सभी के सामने कानपूर रेल हादसा की तस्वीर और खबर गूंज रही थी। जिसके के बाद बिहार के मुख्यमंत्री ने अपना कई कार्यक्रम रद्द करते हुए रिपोर्ट कार्ड जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम भी स्थगित कर दिया। इस शोक की घड़ी में मुख्यमंत्री ने आपदा प्रबंधन के अधिकारियों को रेलवे के साथ संपर्क में रहने के निर्देश भी दिये है।

Read more Vaishali News in Hindi

वहीं पासवान सोनपुर मेले में उपभोक्ता मंडप के उद्घाटन सत्र में अपने स्वागत से काफी खुस नजर आ रहे थे। हलांकि पासवान उद्घाटन के बाद रेल हादसे के शिकार लोगो की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन भी किया। अब सोचने की बात है कि केंद्र की सरकार में इतने बड़े वरिष्ठ मंत्री जब सोनपुर मेला में रेल हादसे के शिकार मृतकों के लिए मौन रख कर शोक व्यक्त कर रहे थे तो शोक की इस घड़ी में इतने ताम झाम की क्या आवश्यकता थी ? क्या उपभोक्ता मंडप का उदघाटन सादगी से नहीं होसकता था ?