न्याय के लिए दर-दर भटकते किसान

650
0
SHARE

लखीसराय समाचार/ संवाददाता- (Patna News) लखीसराय जिले के पिपरिया प्रखंड अंतर्गत मोहनपुर निवासी टनटन सिंह ने अपने भाईयों के साथ बीस बीघा जमीन में गेंहूं का फसल लगया था, जो पक कर तैयार था। जमीन विवादित होने के कारण फसल काटने का लिखित आदेश अंचलाधिकारी पिपरिया से मांगा गया था।

Read More Lakhisarai News in Hindi

इससे पहले कि फसल काटने का आदेश आए गांव के दबंगों ने 14 मई की रात बीस बीघा खेत में लगे गेहूं के फसल में निर्दयतापूर्वक आग लगा दी। जिसे ग्रामीणों के सहयोग से भरसक आग बुझाने का प्रयास किया गया। जिसमें लगभग दो बीघा जमीन के फसल को किसी तरह बचा गया। शेष फसल आंखों के सामने ही धू-धू कर जलते लोग देखते रहे। इस संबंध में अठारह दबंगों के खिलाफ पिपरिया थाना में मामला दर्ज किया किया था लेकिन आज तक एक भी व्यक्ति की गिरफ्तारी संभव नहीं हो सका है। इसे पुलिस की निष्क्रियता कहें या कुछ और। थक हार कर आवेदक डीएसपी एवं एसपी लखीसराय का भी दरवाजा खटखटाया पर परिणाम जस का तस बना रहा।

Read More Bihar News in Hindi

कहा जाता है भारत कृषि प्रधान देश है और देश की तरक्की में किसानों का अहम भूमिका होता है, यदि इस तरह से किसानों का फसल जलाया जाता रहा और दबंगों पर कार्रवाई कुछ न हो तो न किसान का भला हो सकता है और न ही देश का। इस संबंध में डीएसपी
लखीसराय से पूछे जाने पर बताया कि पिपरिया थाना में मामला दर्ज कर छानबीन की जा रही है। बहुत जल्द ही अपराधी पुलिस की पकड़ में होंगे।