राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने सरकार को घेरा, कहा- बिहार में डबल इंजन की सरकार में ट्रबल है

196
0
SHARE

PATNA: लॉकडाउन के दौरान बिहार के बाहर फंसे बिहारियों को वापस लाने की मांग को लेकर शुक्रवार को राजद नेताओं और कार्यकर्ताओं ने अनशन किया है. पार्टी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने भी अनशन किया है. वे अपने घर के बरामदे में बैठ कर सरकर के खिलाफ अपना विरोध प्रकट कर रहे हैं.

इस दौरान उन्होंने कहा कि यह 15 वर्षों से राज कर रहे एनडीए सरकार की विफलता है कि राज्य में बड़ी संख्या में छात्रों, नौजवानों और मजदूरों को पलायन करने के लिए मजबूर होना पड़ा. अब इस आपदा की घड़ी में जब उनको वापस घर आना है तो बिहार सरकार अपनी जिम्मेदारी जवाबदेही से भाग रही है. बिहार की डबल इंजन की सरकार किस काम की है.

झारखंड की सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय, रेल मंत्रालय और तेलंगाना की सरकार से लाइन अप करके ट्रेन खुलवा लिया और प्रवासी मजदूरों को वापस घर झारखंड लाने की व्यवस्था कर ली. लेकिन बिहार की डबल इंजन की सरकार अभी तक बहानेबाजी कर रही है और केंद्र सरकार के बहाने बैठी है.

मृत्युंजय ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के दो हजार बस देने के प्रस्ताव को भी नहीं मान रही है. भोजपुरी में एक कहावत है “ना खेलव ना खेले देव खेलवे बिगाड़ देव” बिहार की सरकार यही कर रही है. ना लाएंगे ना दूसरे को लाने देंगे. बस हाथ खड़े करके केंद्र के भरोसे बैठे रहेंगे. इस बात से यह तो सिद्ध हो रहा है कि बिहार में डबल इंजन की सरकार में ट्रबल है.