राजद के बड़बोले युवराज अभी से ही हो चुके हैं पस्त, इसलिए कर रहे हैं अनावश्यक बयानबाजी- राजीव रंजन

125
0
SHARE

PATNA: जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने शुक्रवार को कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव अभियान का अभी बिगुल भी नहीं बजा और राजद के बड़बोले युवराज अभी ही पस्त हो चुके हैं. हताशा और बौखलाहट में अनावश्यक बयानबाजी से अपनी बची खुची साख भी मिट्टी में मिला देने के लिए व्याकुल दिख रहे हैं .

प्रसाद ने कहा कि राजद के पांच विधान पार्षदों का जदयू में शामिल होना और उनकी पार्टी के वरिष्ठ रघुवंश प्रसाद सिंह के पद से त्यागपत्र ने इतना तो स्पष्ट कर ही दिया कि पहले से महागठबंधन के दलों की ओर से उनके स्वघोषित नेतृत्व को नकारे जाने के बाद अब राजद भी बिखरने लगा है .

प्रसाद ने कहा कि दरअसल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के व्यक्तित्व कृतित्व और उनकी लोकप्रियता के मुक़ाबले तेजस्वी पासंग में भी खड़े नहीं दिखते, दूसरी तरफ 1990 से 2005 के उनके परिवार के शासनकाल की खौफनाक तस्वीर से जोड़ कर उनकी छवि देखी जाती है .इसलिए एकतरफा चुनाव में राजद की संभावित करारी हार का दुष्प्रभाव तेजस्वी की पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं पर स्पष्ट रूप से दिखने लगा है.