संतान की चाहत में सात वर्षीय बच्चे की चढ़ा दी बलि

784
0
SHARE

जहानाबाद समाचार – (Jehanabad News) काको थाना क्षेत्र के नादियावां गांव से बीते 12 अप्रैल से गायब सात वर्षीय बच्चे की एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है। अपनी संतान की चाहत में पड़ोस के ही एक पति-पत्नी ने मिलकर नर बलि चढ़ा दी और शव को कूड़े के ढेर में फेक दिया।

Read More Jehanabad News in Hindi

मामले का खुलासा तब हुआ जब मंगलवार की सुबह पुलिस ने गांव के कूड़े से शव बरामद किया और परिजनों के शिकायत पर गांव के ही रहने वाली शुष्मा देवी और उसके पति राधेश्याम को हिरासत में ले लिया। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की पूछताछ में लगी है जिसमें आरोपी शुष्मा ने अपनी संलिप्ता स्वीकार कर ली है। उसके निशानदेही पर ही गया ज़िले के बेला थाना अंतर्गत ओर गांव निवासी तांत्रिक प्रभु रजक और उसकी पत्नी संगीता देवी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

Read More Bihar News in Hindi

गिरफ्तार  आरोपी महिला शुष्मा देवी ने बताया की शादी के छः वर्ष बीत जाने के बावजूद उसे कोई संतान नहीं हुई है, जिसको लेकर वो गया ज़िले के ओर गांव निवासी प्रभु रजक और उसकी पत्नी संगीता देवी से झाड़फूंक कराती थी और उसी के कहे अनुसार उसने बच्चे को पानी में डूबो कर मार डाला और शव को बोरे में बंद कर पांच दिनों तक अपने ही घर के एक कमरे में रख कर छोड़ दिया।

Read More Jehanabad News in Hindi

जब शव से काफी दुर्गन्ध आने लगी तो महिला शुष्मा देवी ने अपने पति राधेश्याम के साथ मिलकर बीते रात गांव के कूड़े के ढेर में फेंक दिया। इधर पुलिस ने शव को अपने कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिये सदर अस्पताल जहानाबाद भेज दिया है। वहीं पुलिस पदाधिकारी ने बताया कि तांत्रिक के कहने पर शुष्मा देवी ने घर में टीवी देख रहे पड़ोस के बच्चे दीपक कुमार को पानी में डुबो कर मार डाला और साक्ष्य को छुपाने के उद्देश्य से, पांच दिनों तक घर में रखने के बाद शव को कूड़े के ढ़ेर में फेंक दिया। इस मामले में दो महिला सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Read More Bihar News

गौरतलब है कि काको थाना के नादियावां गांव से पिछले 12 अप्रैल को सात वर्षीय बच्चा दीपक कुमार के गायब होने के बाद आक्रोशित लोगो ने एनएच-110 को नादियावां गांव के समीप कई घंटों तक जाम कर दिया था। वही मंगलवार को तड़के शव मिलने के बाद गांव में कोहराम मच गया।