कैदी ने जेल प्रशासन पर लगाया सनसनी खेज आरोप!

602
0
SHARE

मुकेश कुमार सिंह

सहरसा – कैदी ने जेल प्रशासन पर लगाया सनसनी खेज आरोप। मंडल कारा के अंदर डॉक्टर नहीं कंपाउंडर करता है इलाज जिसकी वजह से कैदी की हालत बिगड़ी। सहरसा जेल के तीस वर्षीय कैदी छबिलाल यादव की हालत बिगड़ी। आनन फानन में इलाज के लिए लाया गया सदर अस्पताल। हथकड़ी लगाकर चल रहा है कैदी का इलाज तो वहीं कैदी लगा रहा है जेल प्रशासन की लापरवाही व कम्पाउण्डर के द्वारा इलाज गलत ढंग से करने का आरोप। पेशाब के रास्ते से आता है ब्लड। कंपाउंडर ने गलत ढंग से लगाया पेशाब के रास्ते में पाइप उसके बाद कैदी की हालत बिगड़ी। कैदी छबिलाल यादव खगड़िया जिला का रहने वाला है। घटना सहरसा मंडल कारा की है।

बता दें कि छबिलाल यादव एक मामले में कई महीनों से मंडल कारा में बंद है। कई दिनों से छबिलाल को पेशाब के रास्ते से ब्लड आ रहा था। सबसे चौंकाने वाली बात जो सामने आई है वो ये है कि मंडल कारा में इस कैदी का इलाज डॉक्टर नहीं बल्कि मंडल कारा का कंपाउंडर कर रहा था जिसकी वजह से बीती रात इसकी हालात बिगड़ गयी। आनन फानन में जेल प्रशासन ने देर रात इसे सदर अस्पताल इलाज के लिए भेजा अब भी कैदी की हालत बेहद नाजुक बताई जा रही है।

गंभीर हालत में कैदी के हांथों में हथकड़ी जकड़ी हुई और स्लाइन चढाने से लेकर सभी इलाज हो रहा है। वहीं जब मंडल कारा के कक्षपाल से इस बाबत पूछा गया तो कक्षपाल अपने आप को बचाते नजर आए। वहीं कैदी खुद आरोप लगा रहा है कि जेल में सबकुछ ठीक ठाक नहीं, डॉक्टर के बदले मेरा इलाज कंपाउंडर ने किया और हालत मेरी बिगड़ गयी।