5वीं क्लास के छात्र के साथ अप्राकृतिक यौनाचार

488
0
SHARE

मुकेश कुमार सिंह

सहरसा – देश में पॉक्सो एक्ट के कड़े कानून बनाये जाने का समाज में कोई असर होता नहीं दिख रहा है। आये दिन बलात्कार और अप्राकृतिक यौनाचार की घटनाओं में कमी के बजाय बढ़ोत्तरी ही हो रही है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि अब गुरु शिशु परंपरा भी इससे प्रभावित होने लगा है। ऐसा ही एक मामला सहरसा में देखने को मिला जब गुरु ने अपने ही शिष्य के साथ किया अप्राकृतिक यौनाचार का प्रयास। स्कूल के प्राचार्य ही लगातार एक महीने से कर रहा था मासूम बच्ची के साथ गन्दा खेल। जी हां, प्रमंडलीय मुख्यालय का पॉश मोहल्ला न्यू कॉलोनी जहाँ सदर एसडीएम के आवास के बगल में और मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के आवास के ठीक सामने स्थित मध्य विद्यालय, न्यू कॉलोनी में पांचवी कक्षा में पढ़ने वाला एक छात्र ने विद्यालय के प्रधानाध्यापक पर अप्राकृतिक यौनाचार करने का आरोप लगाया है।

पीड़ित छात्र ने अपने शिक्षक की काली करतूत अपने माता-पिता से बताया फिर माता-पिता ने सदर थाने में स्कूल के हेडमास्टर के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई है। मामला दर्ज करने के साथ ही सहरसा पुलिस उस हेडमास्टर की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है लेकिन आरोपी हेडमास्टर फरार है। घटना के बावत पीडित छात्र प्रणव ने बताया कि छुट्टी के बाद प्रधानाध्यापक उसे रोक लेता था फिर उसके साथ गन्दा काम करता था साथ ही इसके बारे में किसी को भी नहीं बताने का सख्त हिदायत भी देता था। यह काम लगातार एक महीने से चल रहा था।

वहीँ पीड़ित के पिता मुकेश कुमार जो यहाँ किराना दुकान चलाकर परिवार का भरण पोषण करता हैं कहा कि कुछ दिनों से वो परेशान दिख रहा था इस बावत जब बच्चे की माँ ने सवाल-जबाव किया तब जा कर उस प्रधानाध्यापक का पोल खुला। फिर तो परिवार के सदस्य हरकत में आया और स्थानीय सदर थाने में शिकायत कर मामला दर्ज करवाया। हालाँकि इस बावत जब पुलिस अधिकारी से पूछा गया तो सदर अनुमंडल पदाधिकारी प्रभाकर तिवारी ने कहा है कि यह जघन्य अपराध है। थाने में दिए गए आवेदन को दर्ज कर लिया गया है आरोपी शिक्षक के विरुद्ध पॉक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। पुलिस गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

सच मायने में विद्या के मंदिर में प्रधानाध्यापक की अपने छात्रों के साथ की गयी यह हरकत एकदम निंदनीय है। जरूरत है ऐसे दोषी अध्यापक के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने की जिससे फिर कोई दुबारा ऐसी हरकत करने से बाज़ आये।