शिक्षा के विकास में सावित्री बाई फुले का अतुलनीय योगदान : पप्‍पू यादव

570
0
SHARE

सावित्री बाई फुले जयंती के मौके पर संगोष्‍ठी आयोजित

पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने कहा कि वंचित वर्गों में शिक्षा के विकास में माता सावित्री बाई फुले का अतुलनीय योगदान रहा है। उनके ही प्रयास से महिलाओं में शिक्षा का प्रचार-प्रसार शुरू हुआ। बुधवार को पटना में महेंद्रू स्थित राजकीय कल्‍याण छात्रावास में माता सावित्री बाई फुले जयंती समारोह के मौके पर आयोजित संगोष्‍ठी को सबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि सावित्री बाई फुले के प्रयास से ही वंचितों और गरीबों के बीच शिक्षा का प्रचार शुरू हुआ। इसी का असर था कि इन वर्गों में शिक्षा की भूख पैदा हुई और पढ़ने की ललक बढ़ी। इसका व्‍यापक असर पूरे समाज पर पड़ा।

Read More Patna News in Hindi

श्री यादव ने कहा कि शिक्षा के विकास में राजकीय कल्‍याण छात्रावास की बड़ी भूमिका रही है। यह आंदोलन का केंद्र भी रहा है। इसी कड़ी में सावित्री बाई फुले का जयंती समारोह आयोजित कर बदलाव की नयी शुरुआत की है। उन्‍होंने इस्‍वा की पहल का स्‍वागत करते हुए लोगों से आग्रह किया कि शिक्षा की ज्‍योति को गांव-गांव तक पहुंचाएं। इस मौके पर साहित्‍यकार बुद्धशरण हंस, रमाशंकर आर्य और इस्‍वा के अमर आनंद ने भी सावि‍त्री बाई फुले का शिक्षा में योगदान पर चर्चा की। संगोष्‍ठी में राजेश रंजन पप्‍पू, आजाद चांद, गौतम आनंद समेत बड़ी संख्‍या में जन अधिकार छात्र परिषद के कार्यकर्ता मौजूद थे।