रिजल्ट से पहले टॉपरों का अब फिजिकल वेरिफिकेशन करायेगी राज्य सरकार

839
0
SHARE

पटना समाचार / संवाददाता- (Patna News) इंटर रिजल्ट के बाद बिहार सरकार के लिए फजीहत बना आर्ट टॉपर गणेश की अब रिमांड अवधि समाप्त हो गई है। उसे जेल भी भेंज दिया गया है। लेकिन जिस टॉपर ने उम्र की हेराफेरी कर सरकार को मुश्किल में डाल दिया है, सरकार के लिए सबस बन गया है।

Read More Patna News in Hindi

शायद इसी को ध्यान में रखकर बिहार सरकार ने अब सभी टॉपर्स का रिजल्ट प्रकाशित होने से पहले फिजिकल वेरिफिकेशन कराने का फैसला लिया है। शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि परिणाम जारी होने के पहले मैट्रिक के टॉपर्स की मेरिट का फिजिकल तौर पर जांच होगी। टॉपर्स को बोर्ड के सामने टेस्ट देना होगा। पटना में पत्रकारों से बात करते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रैटिक्कल के होम सेंटर में गड़बड़ी होने के चांसेस हैं लेकिन जिन लोगों ने गड़बड़ी की है उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। स्कूल, बीईओ और डीईओ समेत तमाम लोगों की जिम्मेवारी तय की जाएगी। उन्होंने कहा कि हमलोग शिक्षा विभाग को क्लीन करने में लगे हुए हैं। लेफ्ट कार्रवाई करते हैं तो राइट में गड़बड़ी हो जाती है। पूरे प्रोसेस को ठीक करने में समय लगेगा।

Read More Bihar News in Hindi

एक साल में सबकुछ ठीक नहीं किया जा सकता है। अशोक चौधरी ने कहा कि मेरी प्राथमिकता जेईई और दूसरे प्रतियोगी परीक्षाओं में सफल उम्मीदवारों के साथ कंपार्टमेंट देने वाले छात्रों का साल बचाना है। हमलोगों को राज्य में पढ़ने और पढ़ाने का माहौल बनाना है। पढ़ाई और कड़ाई दोनों साथ-साथ चलेगा। अशोक चौधरी ने खराब रिजल्ट को लेकर यह भी कहा कि इसकी जांच होगी और दोषी पाये जाने पर अधिकारियों पर कार्रवाई भी होगी।