रोको अनैतिक सरकार, बदलो देश-बदलो बिहार: ब्रह्मर्षि विकास मंच फेडरेशन

231
0
SHARE

PATNA: भारतवर्ष के सारे ब्रह्मर्षि नंदनों और मंच के राष्ट्रीय कार्यकरणी समेत राष्ट्रीय परिषद सदस्यों के द्वारा ब्रह्मर्षि विकास मंच फेडरेशन का गठन किया गया। जिसका राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष निर्विरोध तरीके से जयकांत कुमार वत्स को चुना गया। इस मौके पर उन्‍होंने भारत वर्ष के सारे ब्रह्मर्षि नंदनों व मंच के साथियों का आभार व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि बिहार प्रदेश में इन दिनों अनैतिक सरकार चल रही है।  जिसे बदलना अब समय की मांग हो गई है। क्‍योंकि जब तक इस अनैतिक सरकार को रोका नहीं जायेगा, तब तक देश और बिहार में बदलाव संभव नहीं है। उन्‍होंने कहा कि आज समाज के सभी व्यक्तियों का विकास, शिक्षा, रोजगार व स्वरोजगार से जोड़ना हमारा लक्ष्‍य है। साथ ही रोजगार, स्वरोजगार,लघु उद्योग, कृषि क्षेत्र में नई तकनीक से सभी किसानों को लाभान्वित करना, सामाजिक,आर्थिक, स्वास्थ्य व शैक्षणिक स्थिति सुदृढ़ बने और ब्रह्मर्षि,राजर्षि एक बनें यह भी हमारा प्रमुख लक्ष्‍य है। जिसके लिए ब्रह्मर्षि विकास मंच फेडरेशन का गठन किया गया है।

उन्‍होंने कहा कि भारत वर्ष के सारे ब्रह्मर्षि नंदनों व मंच के सभी साथियों से आग्रह है कि संगठन के विस्तार में हमारा साथ दें। जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि बहुत से संगठन इस क्षेत्र में कार्य कर रहे हैं। परन्तु सारे संगठन एक राजनैतिक प्लेटफार्म की ओर जा चुके हैं और समाजिक कार्य बिल्कुल ठप्प हो चुका है। ऐसे में हमें एकजुट होने की जरूरत है। इसलिए जयकांत कुमार वत्स के नेतृत्व में व डंडी स्वामी अनंता नंद सरस्वती जी महाराज, स्वामी राम सुमिरन जी महाराज, श्यामबिहारी महाराज, राकेश कुमार, उमेश भारद्वाज, हितेश भारद्वाज, उमाशंकर पाण्डे,रिटायर्ड मेजर जनरल एस डी सिंह, रिटायर्ड DIG विक्रम सिंह, गोतम ऐय्यर, मति तंगामणि ऐंगर, कृष्णनिवासन रेड्डी समेत बहुत से गणमान्य परशुराम वंशजों के सहयोग से इस संगठन का निर्माण हुआ है।

यह संगठन बिल्कुल ही गैर-राजनैतिक है। यह संगठन सिर्फ समाज के लिए,समाज हित में कार्य करेगी। हमारे संगठन का मुख्य उद्देश्य अपने समाज के आर्थिक, शैक्षणिक, स्वास्थ्य, रोजगार, स्वरोजगार,लघु उद्योग और कृषि क्षेत्र में अपने समाज के लोगों को लाभान्वित करना और उनकी मदद कराना है। जिसकी शुरुआत संगठन ने बिहार की राजधानी पटना में परशुराम छात्रावास व परशुराम ब्लड बैंक के निर्माण से करने जा रही है। संगठन अपने विस्तार के साथ-साथ देश के लगभग 5 गांवों को आदर्श गांव बनाने की योजना पर भी कार्य करेगी।